जागरण संवाददाता, पानीपत : मानसून सीजन में सावन की झड़ी लग गई है। सोमवार देर रात शुरू हुई बारिश रुक-रुककर मंगलवार देर रात तक होती रही। लगातार बारिश होने होने से अधिकतम तापमान में कमी आई। लोगों ने गर्मी से राहत की सांस ली। अधिकतम तापमान 31 और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस तक रहा। बारिश की संभावना सौ फीसद बनी रही। हवा की गति छह किलोमीटर प्रति घंटे और नमी की मात्रा 99 फीसद रही। वहीं बारिश से किसानों के चेहरे पर भी रौनक देखने को मिल रही है। इससे धान की फसल को काफी फायदा होगा। मौसम विभाग ने अगले एक सप्ताह तक बारिश के आसार जताए हैं। ऐसे में सप्ताह भर तक अधिकतम तापमान 28 से 29 और न्यूनतम 25 से 26 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। कई दिन गर्मी के बाद रविवार को मौसम में बदलाव आया। तेज हवा के साथ पहले आसमान में बादल छाए और फिर हल्की बूंदाबांदी शुरू हुई। इससे लोगों को गर्मी व उमस से राहत मिली। सोमवार को दिन भर आसमान में बादल छाने के साथ हल्की बूंदाबांदी हुई और देर रात झमाझम बारिश। इसके बाद सिलसिला मंगलवार को दिन भर चला और रात तक जारी रहा। हरियाणा कृषि विज्ञान विभाग के मुताबिक मानसूनी टर्फ रेखा बनने और राजस्थान पर हवाओं के चक्रवात के चलते अगले एक सप्ताह तक लगातार बारिश होने के आसार हैं। ऐसे में अधिकतम तापमान में गिरावट आने पर लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी, जो 28 से 29 रहने की संभावना है। किसान खुश, निगम को भी राहत

धान के सीजन में पानी की लागत ज्यादा होती है। जिस कारण कृषि फीडरों पर बिजली की खपत बढ़ जाती है। लेकिन दो दिन से हो रही बारिश ने किसानों के साथ निगम को भी राहत दी है। बारिश से जहां किसान खुश दिख रहे हैं, वहीं बिजली की खपत में भी 20 लाख यूनिट प्रतिदिन की कमी आई है। सोमवार रात आठ से मंगलवार सुबह आठ बजे तक कहां कितनी हुई बारिश

खंड -- बारिश

पानीपत -- 20 एमएम

समालखा -- 02 एमएम

इसराना -- 01 एमएम

बापौली -- 05 एमएम

मतलौडा -- 25 एमएम

मंगलवार सुबह आठ से रात आठ बजे तक कहां कितनी हुई बारिश --

खंड -- बारिश

पानीपत -- 00 एमएम

समालखा -- 14 एमएम

इसराना -- 02 एमएम

बापौली -- 34 एमएम

मतलौडा -- 06 एमएम

Edited By: Jagran