पानीपत, जेएनएन। गांव झïट्टीपुर निवासी एक महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी थी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश एचएस दहिया ने महिला और प्रेमी को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

गांव झïट्टीपुर निवासी जोगिंद्र भेड़-बकरियां चराता था। 12 जून 2016 की रात करीब 8 बजे वह बाड़े में सो गया। अगले दिन सुबह पत्नी कुंती देवी बाड़े में पहुंची तो पति का शव पड़ा था। कुंती के रोने-चीखने की आवाज सुन ग्रामीण एकत्र हो गए। तत्कालीन सरपंच ने हत्या की सूचना समालखा थाना पुलिस को दी थी। कुंती की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। 

अटपटे जवाब से हुआ शक
तत्कालीन डीएसपी गोरखपाल सिंह राणा ने कुंती से पूछताछ की तो वह अटपटे जवाब देने लगी। पुलिस ने कुंती के मोबाइल नंबर की काल डिटेल निकलवाई तो एक ही नंबर पर वह बार-बार कॉल करती थी। सख्ती से पूछताछ की तो उसने प्रेमी रणबीर (चिनाई मिस्त्री) निवासी बिहौली के साथ मिलकर पति की हत्या करना कुबूल किया।

पत्नी ने पैर पकड़े और आशिक ने गला घोंटा
कुंती ने पुलिस को बताया था उसने पति जोगिंद्र के पैर पकड़े थे और रणबीर ने रस्सी से गला घोंटा दिया। अदालत ने उम्रकैद के साथ दोनों पर 25-25 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। 

पिटाई से गुस्से में थी कुंती 
पुलिस के मुताबिक बेटे ने कुंती को प्रेमी के साथ आपत्तिजनक हालात में देख लिया था। उसने यह बात पिता जोगिंद्र को बता दी थी। इस पर जोगिंद्र ने कुंती की पिटाई कर दी थी। इससे गुस्साई कुंती ने प्रेमी रणबीर के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटाने की साजिश रची थी।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस