जागरण संवाददाता, पानीपत : शनिवार की रात्रि व रविवार को हुई वर्षा ने शहर के हालात बिगाड़ दिए हैं। शहर के तीन अंडरपास में जलभराव होने से कई कालोनियों का रास्ता तक बंद हो गया। गलियों व सड़कों पर कीचड़ फैला हुआ है। हालात ऐसे हो गए है कि पैदल चलने तक का भी रास्ता नहीं। सबसे खराब स्थित पानीपत ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र की कालोनियों के है। बता दें कि शहर में हर साल ऐसे ही हालत पैदा होते हैं, सुधार के लिए कदम नहीं उठाए जाते।

मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ दिन तेज बारिश के आसार बने हुए है। इससे हालात और भी खराब होने वाले है। तेज बारिश में तो कालोनियों से बाहर निकलने तक के रास्ते बंद हो जाते हैं। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। नगर निगम के तमाम इंतजाम फेल साबित हो रहे है। सीवर व नाले साफ करवाने के लिए दिल्ली से चार मशीनें भी मंगवाई गई, लेकिन इसके बावजूद शहर में हालात नहीं सुधर रहे। असंध रोड अंडरपास : इस अंडरपास से दस से अधिक कालोनी के लोगों का आना रहता है। इसमें गीता कालोनी, न्यू गीता कालोनी, ईदगाह कालोनी, विवर्स कालोनी सहित कई कालोनियां आती हैं। इस अंडरपास में दो सप्ताह से गंदा पानी भरा हुआ है। अब अंडरपास से बदबू आने लगी है।

गोहाना रोड अंडरपास : इस अंडरपास में एक माह से गंदा पानी भरा हुआ है। अब बारिश के बाद हालात काफी खराब हो चुके हैं। इससे लोगों को ओवरब्रिज के ऊपर से घूमकर जाना पड़ रहा है। जाम जैसी स्थिति पैदा हो रही है। इस अंडरपास से भी 10 से ज्यादा कालोनी के लोग रहते है। इसमें आठ मरला कालोनी, आरके पुरम कालोनी, न्यू आरके पुरम, शूगर मिल कालोनी व पावर हाउस कालोनी आदि कालोनी आती है।

लघु सचिवालय अंडरपास : इस अंडरपास में भी सबसे ज्यादा गंदा पानी भरा रहता है। बारिश के बाद भी पानी निकासी नहीं हो सकी। जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 24 घंटे में कहां कितनी हुई बारिश

स्थान कितनी बारिश हुई

पानीपत 10 एमएम

समालखा 00 एमएम

इसराना 05 एमएम

बापौली 01 एमएम

मतलौडा 12 एमएम

Edited By: Jagran