संवाद सूत्र, इसराना : इसराना के गांव बिजावा में बने सार्वजनिक शौचालय की हालत खस्ता होने से महिलाएं खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं। शौचालयों को शराबियों ने अपना अड्डा बना रखा है। नशा करने वालों ने शौचालयों को बलाक कर दिया है। ग्रामीण प्रशासन के शिकायत दे चुके हैं। उनकी कोई सुनवाई नहीं की जा रही है। इससे खुले में शौच मुक्त अभियान को भी धक्का लग रहा है।

ग्रामीण काला, विसाल, नीरज, अमरजीत, सीमा, भतेरी, राजो ने बताया कि ग्राम पंचायत बिजावा की ओर से डेढ़ साल पहले सार्वजनिक सुलभ शौचालयों का निर्माण करवाया गया था। देखभाल ना होने के कारण इन शौचालयों की हालत खराब है। शराबियों ने शौचालयों को अपना अड्डा बना रखा है, जिससे महिलाओं को वहां जाने में परेशानी होती है। उन्होंने बताया कि पानी के लिए लगाया गया ट्यूबवेल बंद हो चुका है। इन शौचालयों में शौच करना तो दूर यहां से गुजरना भी मुश्किल हो गया है।

इस बारे में सरपंच सुरेंद्र का कहना है कि शौचालय चल रहा है। दो शौचालय खुले हुए हैं और बाकी पर ताला लगा रखा है। ग्रामीण शौचालय को खराब कर देते है। सफाई के लिए कोई व्यक्ति नहीं लगाया गया है। शौचालय का प्रयोग नहीं होता है। शौचालय के सामने अड्डे की रेहड़ी लगती है, वहां शराब पी कर लोग बोतल फेंक देते हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप