पानीपत, जेएनएन। ब्लैकमेल करके युवती से दुष्कर्म करने और दिल्ली हाई कोर्ट ले जाकर जबरन शादी करने के दोषी युवक को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश शशिबाला चौहान ने 10 साल की सजा सुनाई है। दोषी पहले से शादीशुदा था। कोर्ट ने युवक पर 70 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है।

20 सितंबर 2017 को आठ मरला पुलिस चौकी में दी अपनी शिकायत में शहर के एक व्यक्ति ने बताया कि अल सुबह करीब चार बजे से उसकी बेटी लापता है। पुलिस ने 7 अक्टूबर 2017 को सोनीपत के बरोदा निवासी रोहताश के कब्जे से लड़की को बरामद कर लिया। लड़की ने कोर्ट में बताया कि रोहताश उनके घर में किराये पर रहता था। घटना से कुछ दिन पहले बहन की शादी थी।

 फोटो खींचा फिर सार्वजनिक करने की दी धमकी
रोहताश ने काम का बहाना कर उसे ऊपर के कमरे में बुलाया। उसने कहा कि तेरे भाई का मेरी पत्नी के साथ संबंध है। जैसा कहता हूं मान ले, वरना वीडियो क्लिप सभी को दिखा दूंगा और तेरी बहन की शादी टूट जाएगी। इसके बाद रोहताश ने उसके साथ खड़े होकर अश्लील फोटो लिए। बाद में वह फोटो सार्वजनिक करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने लगा। अश्लील क्लिप भी बना ली। कई बार रकम भी ऐंठी।

दिल्ली हाईकोर्ट में ले जाकर की शादी
 20 सितंबर 2017 को वह उसे दिल्ली हाई कोर्ट ले गया और डरा-धमकाकर कोर्ट मैरिज की। इसके बाद किसी गांव में ले जाकर रोजाना दुष्कर्म करता रहा। पीडि़ता का मेडिकल कराया गया तो रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई। तभी से मामला कोर्ट में विचाराधीन था।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस