जागरण संवाददाता, समालखा: पानीपत और सोनीपत के आठ युवकों को रेलवे में टीटीई लगाने का झांसा देकर निजी कंपनी के डायरेक्टर ने 10.76 लाख रुपये की ठगी कर ली। रुपये देने के कई महीनों तक भी नौकरी नहीं लगी तो पीड़ितों ने रुपये लौटाने की मांग की। आरोपित ने रुपये लौटाने से इंकार कर दिया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

समालखा की न्यू दुर्गा कॉलोनी के प्रशांत ने बताया कि उसने हाल ही में बारहवीं की परीक्षा पास की है। लगभग छह माह पहले वह कुहाड़ पाने में दोस्त मोहित के घर गया तो वहां डिजिटल इंडिया केबीएम डिफेंस एकेडमी का बोर्ड लगा देखा। मोहित ने उसकी कंपनी डॉयरेक्टर कृष्ण गोपाल भारद्वाज निवासी मथुरा, उप्र से जान-पहचान करा दी। डॉयरेक्टर कृष्ण गोपाल ने 50 हजार रुपये में रेलवे में टीटी की नौकरी दिलाने का दावा किया। इसी दौरान आरोपित ने उससे एक लाख रुपये उधार भी ले लिए। उसके अलावा आरोपित ने उसके दोस्त मोहित से 1.76 लाख रुपये, सागर निवासी चुलकाना से 1.10 लाख, सुशील निवासी 1.50 लाख, साहिल निवासी पट्टीकल्याणा से 50 हजार, मोहनलाल निवासी भापरा से 40 हजार, गोपाल निवासी कुतुबपुर गन्नौर सोनीपत से 3 लाख रुपये और राहुल निवासी रोहतक से एक लाख रुपये की ठगी की है। जांच अधिकारी ने बताया कि आरोपित की तलाश जारी है। जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस