जागरण संवाददाता, पानीपत : गोहाना रोड गोशाला के पास रहने वाली महिला, उसके भाई व भाभी को सरकारी नौकरी का झांसा देकर एक व्यक्ति ने पुलिसकर्मी बताकर दस लाख रुपये व सोने के जेवर हड़प लिए। आरोपित ने पीड़िता का मकान गिरवी रखवाकर पैसे हड़प लिए और उसे नकली कागजात थमा दिए।

गोहाना रोड गोशाला के पास रहने वाली संतरो ने बताया कि उसका परिचित नोहरा गांव का संजय है। संजय खुद को पुलिसकर्मी बताता था और गुरुग्राम में तैनाती की बात कहता था। सजंय ने उसे, भाई व भाभी को सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा दिया। इसकी एवज में

21 मार्च 2021 को संजय ने उनसे 10 लाख रुपए, 2 तोले सोने के आभूषण ले लिए थे। संजय ने उनका 100 गज का मकान भी गिरवी रखवा कर रुपए हड़प लिए। यह सब हड़पने के बाद आरोपी ने उन्हें नौकरी संबंधित नकली दस्तावेज पकड़ा दिए। पता लगने पर जब इस बारे में पीड़ितों ने विरोध करना शुरू किया तो आरोपी ने उनसे संपर्क छोड़ दिया। अब वह न ही पीड़ितों के फोन रिसीव करता है और न ही अपने गांव नोहरा में मिलता है।

अगर पीड़ित उसके घर फोन करते हैं तो उसकी दादी उन्हें जान से मारने व मरवाने की धमकी देती है। आरोपी ने संतरो से 10 लाख रुपए, 100 गज का मकान, कानों की बालियां, 1 सोने की अंगूठी, चांदी का कड़ा, 4 चांदी की पाजेब और अमृता पत्नी सतीश कुमार से 60 हजार नकद, 1 तोला सोना व कुसुम पत्नी रमेश कुमार से 35000 की नकदी हड़प ली है। उन्हें न तो सरकारी नौकरी भी नहीं मिली और न ही रुपये वापस मिले। 25 हजार से लेकर दस लाख रुपये हड़पे

पीड़ित संतरो का कहना कि आरोपित संजय ने करीब 15 महिला व पुरुषों को भी लोन दिलाने व नौकरी लगवाने के नाम पर 25 हजार रुपये से लेकर दस लाख रुपये तक हड़प लिए। पीड़ितों को नौकरी के फर्जी कागजात भेज दिए था। जांच करवाई तो फर्जीवाड़े का पता चला। आरोपितों ने कई महीने पहले भी थाना चांदनी बाग पुलिस को शिकायत दी थी। तब पुलिस ने जांच का आश्वासन दिया था।

Edited By: Jagran