पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। यमुनानगर के बालकुंज में किशोरी के भागने की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। किशोरी पेड़ पर चढ़कर दीवार फांदकर भाग गई। रात में इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने उसके प्रेमी के घर छापा मारा, जहां से उसे पकड़ा गया। पुलिस प्रेमी को भी साथ ले आई। 

दरअसल चार महीने पहले एक किशोरी पश्चिम बंगाल से लापता हो गई थी। परिजनों ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। साथ ही पड़ोस के युवक पर शक भी जाहिर किया था। सूचना मिली थी कि युवती हरियाणा में है। तो हरियाणा पुलिस ने उसे पंचकूला के विलासपुर से बरामद किया था। वह अपने प्रेमी के साथ भाग आई थी। उसके बाद से उसे बालकुंज आश्रम में रखा गया था। 

प्रेमी से मिलने पहुंच गई थी किशोरी
पुलिस ने बताया कि किशोरी बालकुंज आश्रम में लगे पेड़ पर चढ़कर दीवार फांदकर भाग गई थी। विलासपुर में किशोरी का प्रेमी और चाचा-चाची मजदूरी करते हैं। उन्हीं के पास किशोरी चली गई थी। 

अब प्रेमी भी पकड़ा गया
पहले किशोरी तो मिल गई थी, लेकिन युवक का पता नहीं चल सका था। पुलिस को आशंका भी थी कि किशोरी फिर वहीं जा सकती है। पुलिस ने किशोरी को युवक के पास से बरामद किया। पुलिस युवक को भी साथ ले आई। किशोरी के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है और उसके बयान दर्ज होंगे। 

पहले भी फरार हो चुकी हैं लड़कियां
सितंबर माह में भी दो लड़कियां बालकुंज से फरार हो गई थी। इससे यहां पर सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। गत जून माह में भी बालकुंज में बने रेडक्रॉस बालश्रम पुनर्वास केंद्र से चार बच्चे फरार हो गए थे। बाथरूम के रोशनदान से चादरों के सहारे यह बच्चे फरार हुए। इनमें दो बच्चे मॉडल टाउन, कांसापुर व दो नेपाल के रहने वाले थे। इन बच्चों को बाल कल्याण समिति ने बाल मजदूरी करते हुए मुक्त कराया था। 2012 में भी एक लड़की यहां से भाग गई थी। इसके अलावा 2014 में बालकुंज में रहने वाली एक लड़की गर्भवती हो गई थी।

Posted By: Anurag Shukla