पानीपत, जेएनएन। दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर एक बार फिर हाहाकर मचा। वाहनों की कतार लग गई। घायलों को लेकर अस्पताल भागना पड़ा। वाहन से शव को मुश्किल से निकाला जा सका। हाईवे पर लोग मदद के लिए चिल्ला रहे थे। 33 यात्रियों से भरी उत्‍तराखंड परिवहन निगम की बस को कैंटर ने टक्कर मार दी थी। इसके बाद बस पिकअप से जा टकराई। हादसे में एक की मौत हो गई।

दरअसल दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर सेक्टर छह पुलिस चौकी के पास रात करीब तीन बजे एक डीलक्स बस आकर रुकी। बस दिल्ली से देहरादून जा रही थी। इसमें करीब 33 यात्री बैठे थे। बस का इंजन गर्म होने की वजह से ड्राइवर और कंडक्टर उतरकर पानी डालने लगे। 

पीछे से कैंटर ने मारी टक्कर
सभी यात्री बस में सो रहे थे। तभी पीछे से एक कैंटर ने जोरदार टक्कर मारी। इससे बस डिवाइडर को क्रॉस करती दूसरी लेन में जा रही पिकअप से भिड़ गई। पिकअप चालक की मौके पर मौत हो गई। जबकि कैंटर चालक गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसका  पीजीआइ रोहतक में इलाज चल रहा है। इसके अलावा बस ड्राइवर, कंडक्टर और करीब 10 यात्री, पिकअप सवार दो अन्‍य भी घायल हैं।

सीट से गिरे यात्री
झटका लगने से यात्री सीट ने नीचे आ गिरे। बस में अफरातफरी मच गई। यात्री बस से बाहर निकलकर हाईवे पर आ गए। मदद के लिए वहां से निकल रहे वाहनों को रुकवाया गया। देखते ही देखते हाईवे पर जाम लग गया। पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया। घायलों में ड्राइवर राजीव निवासी मुजफ्फरनगर और कंडक्टर ओमकुमार निवासी सहारनपुर का है। जबकि पिकअप चालक उलाहना सोनीपत निवासी विकास की मौत हो गई।  

15 दिनों में हो चुके दो दर्दनाक हादसे
पानीपत में लाडवा के व्यवसायी गौरव गोयल और उनकी पत्नी डॉ. रंजना गोयल की मौत इसी हाईवे पर हुई थी। ट्रैक्टर से गार्डर उनकी कार पर आ गिरा, जिससे गौरव की गर्दन कट गई थी। वहीं रजना ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। इसके अलावा करनाल में दिल्ली के कारोबारी राकेश सहगल की कार दो ट्रकों के बीच फंस गई थी। इससे उनकी पत्नी, बेटी और बेटा की मौके पर मौत हो गई थी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस