कुरुक्षेत्र, [विनोद चौधरी]। टोक्यो ओलिंपिक में पुरुष हाकी के तीसरे मैच में विरोधी टीम के सामने ढाल बनकर खड़े कुरुक्षेत्र के लाल सुरेंद्र कुमार पालड़ ने शानदार प्रदर्शन किया। मैच के 11 वें मिनट में विरोधी टीम स्पेन को मिले पेनाल्टी की गेंद को सुरेंद्र ने रोककर क्लीयर किया। तीसरे मैच में भारतीय टीम ने स्पेन को तीन-शून्य से हराकर जीत दर्ज करवाई है। इस जीत के बाद भारतीय टीम पुल ए में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। टीम की जीत से खेल प्रेमियों में खुशी की लहर है।

कुरुक्षेत्र जिला में शाहाबाद मारकंडा की महिला हाकी टीम का शुरू से ही बोलबाला रहा है। इस बार भी ओलिंपिक में शाहाबाद की तीन महिला हाकी खिलाड़ी हिस्सा ले रही हैं और पुरुष टीम में कुरुक्षेत्र के सुरेंद्र कुमार पालड़ शामिल हैं। पुरुष हाकी टीम का हिस्सा बने सुरेंद्र पालड़ शानदार खेल का प्रदर्शन कर रहे हैं। टोक्यो ओलिंपिक के पहले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए सुरेंद्र ने अंतिम क्षणों में गोल को रोककर भारतीय टीम को बढ़त दिलाई थी। अब मंगलवार को तीसरे मैच में भी सुरेंद्र पूरी लय में दिखे। इस मैच के 11 वें मिनट में स्पेन को पेनाल्टी कार्नर मिला। इस पेनाल्टी को गोल में बदलने के सपने को गोल पोस्ट के सामने ढाल बनकर खड़े सुरेंद्र ने धूमिल कर दिया। सुरेंद्र ने अपनी हाकी स्टिक से गेंद को रोककर क्लीयर दिया।

इसी खेल का माहिर है सुरेंद्र

सुरेंद्र पालड़ के भाई नरेंद्र ने बताया कि मैच में जब सुरेंद्र ने विरोधी टीम के पेनाल्टी की गेंद को रोककर क्लीयर किया तो पूरा परिवार खुशी से झूम उठा। सुरेंद्र शुरू से ही इस खेल का माहिर है। सुरेंद्र के पिता मलखान सिंह ने कहा कि बेटे के खेल ने गदगद कर दिया। टीम लगातार बढ़त बना रही है।

रक्षा पंक्ति में बेहतर खेल दिखा रहा सुरेंद्र

भारतीय खेल प्राधिकरण कुरुक्षेत्र के प्रभारी और हाकी कोच गुरविंद्र सिंह ने बताया कि सुरेंद्र ने लगातार दूसरे मैच में शानदार प्रदर्शन किया है। वह टीम की रक्षा पंक्ति में बेहतर खेल दिखा रहा है। टोक्यो आलिंपिक में तीन में से दो मैच जीतकर भारतीय टीम अब पूल ए में दूसरे स्थान पर आ गई है। भारतीय टीम पदक की ओर बढ़ती जा रही है। अब वीरवार को भारतीय टीम अर्जेंटिना के खिलाफ पूल का चौथा मैच खेलेगी।

Edited By: Anurag Shukla