करनाल, जागरण संवाददाता। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी के चलते विद्यार्थियों का प्रदर्शन जारी है। अब गांव घीड़ स्थित वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं और उनके अभिभावकों ने सोमवार को करनाल से यमुनानगर को जोड़ने वाले मार्ग पर जाम लगा दिया। छात्राओं ने स्कूल से जीव विज्ञान, गणित, अर्थशास्त्र आदि विषयों के शिक्षकों के पद खत्म करने और शिक्षकों की कमी के चलते जमकर नारेबाजी की।

जाम की सूचना पर कुंजपुरा थाना पुलिस और शिक्षा अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर विद्यार्थियों और अभिभावकों को शिक्षकों की कमी पूरी करने का आश्वासन देकर दो घंटे बाद जाम खुलवाया। जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूल में गणित विषय के एक अस्थाई शिक्षक की तैनाती कर दी है। बाकी के लिए आश्वासन दिया है।

सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के आनलाइन ट्रांसफर और कुछ विषयों के शिक्षकों के पद समाप्त करने के बाद विद्यार्थी और अभिभावक आयदिन प्रदर्शन कर रहे हैं। जिले के अलग-अलग ब्लाकों में शिक्षकों की मांग को लेकर विद्यार्थियों और अभिभावकों के प्रदर्शन की खबरें सामने आ चुकी हैं।

ताजा मामला जिले के गांव घीड़ का है। यहां वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्राएं अपने अभिभावकों को साथ सोमवार को सड़कों पर उतर आईं। छात्राओं ने नारेबाजी करते हुए करनाल-घीड़ मार्ग जाम कर दिया। हालांकि समझदारी का परिचय देते हुए इस दौरान वहां से गुजरी एंबुलेंस को छात्राओं को तुरंत रास्ता दिया।

कक्षा 12 की छात्रा महिमा ने बताया कि उसने प्राइवेट स्कूल से नाम कटाकर सरकारी स्कूल में दाखिला लिया था। अब नई ट्रांसफर पालिसी के दौरान स्कूल से गणित, जीव विज्ञान, अर्थशास्त्र समेत कई विषयों के शिक्षकों की पोस्ट समाप्त कर दी गई है। ऐसे में उन्हें इन विषयों को पढ़ाने के लिए कोई शिक्षक नहीं है। जबकि अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं आने वाली हैं।

दो घंटे तक जाम रखा मार्ग

स्कूल की छात्राओं के साथ उनके अभिभावक भी सड़कों पर उतरे। बच्चों के साथ पुरुष और महिलाओं ने शिक्षकों की कमी के चलते जमकर नारेबाजी की। करीब दो घंटे तक करनाल-घीड़ मार्ग जाम रहा। जाम की सूचना पर कुंजपुरा थाना पुलिस व शिक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने छात्राओं और अभिभावकों को जल्द ही स्कूल में शिक्षकों की कमी पूरी करने का आश्वासन दिया, जिसके बाद जाम खोला गया।

कक्षा 11 व 12 में है शिक्षकों की कमी

जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी ने बताया कि घीड़ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में कक्षा दस तक शिक्षकों की संख्या पर्याप्त है। लेकिन कक्षा 11 व 12 में शिक्षकों की कमी है। उन्होंने तत्काल प्रभाव से स्कूल में गणित विषय के अस्थाई शिक्षक की तैनाती कर दी है। बाकी विषयों के शिक्षकों को भी जल्द तैनात किया जाएगा।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट