कैथल, [सुनील जांगड़ा]। कोरोना के कारण खिलाड़ियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। करीब दो साल से सभी खेल अकादमी और नर्सरी बंद पड़ी हैं। खेल विभाग की तरफ से इनका नवीनीकरण नहीं किया जा रहा है। हालांकि प्रदेश में कुछ नर्सरी प्रशिक्षक आनलाइन खेलों का अभ्यास करवा रहे हैं। ऐसे में अब खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा के निदेशक की तरफ से सभी जिलों के खेल अधिकारियों को पत्र जारी किया गया है। खेल विभाग की तरफ से हरियाणा में आठ रिहायशी और 10 डे-बोर्डिंग खेल अकादमी खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। इन खेल अकादमियों के लिए जिला खेल अधिकारियों से आवेदन मांगे गए हैं।

15 सितंबर को पत्र जारी किया गया है और एक सप्ताह तक सभी अधिकारियों को सूचना भेजनी है। इनके अलावा खेल विभाग की तरफ से सभी जिलों में चल रहे खेल प्रशिक्षण केंद्रों पर खेल नर्सरी खोलने की तैयारी की जा रही हैं। खेल नर्सरी खोलने के लिए खेल प्रशिक्षकों से आवेदन मांगे गए हैं। खेल प्रशिक्षण केंद्र पर ही खेल नर्सरी खोली जाएंगी। खेल नर्सरियां बंद होने के कारण खिलाड़ी अभ्यास नहीं कर पा रहे हैं। एक खेल नर्सरी में 30 खिलाड़ी अभ्यास करते थे। खिलाड़ियों को आयु वर्ग के हिसाब से विभाग की तरफ से प्रोत्साहन राशि दी जाती थी और खेल प्रशिक्षक को वेतन दिया जाता था।

ये हैं रिहायशी और डे-बोर्डिंग खेल अकादमी

विभाग की तरफ से तीन प्रकार से खेल अकादमी और खेल नर्सरियों का संचालन किया जाएगा। पहली खेल नर्सरियां जहां खिलाड़ी सुबह-शाम अभ्यास करने के लिए आएंगे। दूसरा रिहायशी जिनमें खिलाड़ी सुबह-शाम अभ्यास करेंगे और रात को वहीं रहेंगे। खिलाड़ियों के रहने और खाने-पीने की सुविधा खेल अकादमी में की जाएगी। तीसरी डे-बोर्डिंग जिसमें खिलाड़ी सुबह से शाम तक खेल अकादमी में रहेंगे और शाम होते ही अपने घर जाएंगे।

यह मांगी जा रही है जानकारी

खेल नर्सरी खोलने के लिए खेल विभाग की तरफ कुछ जानकारियां मांगी गई हैं। इनमें खेल प्रशिक्षक का नाम, खेल का नाम, खेल केंद्र की जगह, खेल केंद्र पर खिलाड़ियों की संख्या, खेल केंद्र पर मैदान और अन्य सुविधाएं, खेल का क्या-क्या सामान उपलब्ध है।

जिला खेल अधिकारी सतविंद्र गिल ने बताया कि खेल निदेशालय की तरफ से खेल नर्सरी और डे-बोर्डिंग खेल अकादमी को लेकर आवेदन मांगे गए हैं। इस बारे में खेल प्रशिक्षकों को सूचित कर दिया गया है। जल्द ही निदेशालय को मांगी गई सूचना भेज दी जाएगी।

Edited By: Anurag Shukla