पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। फर्कपुर माजरी में किराये पर रह रही 40 वर्षीय चंपा देवी की बीमारी से मौत हो गई। घर के मालिक ने उसके शव को अपने घर में रखने से मना कर दिया। पति शव को अपने घर ले गया तो मृतका का ससुर वहां ताला लगाकर पहले ही निकल गया। बाद में लोगों ने घर का ताला तोड़ कर शव को अंदर रखा। पुलिस ने इसे परिवार का आपसी मामला बताकर कोई कार्रवाई करने से मना कर दिया। 

जगमाल ङ्क्षसह ने बताया कि उसकी पत्नी 40 वर्षीय चंपा देवी कई दिन से बीमार थी। रविवार को उसकी मौत हो गई। उसके पिता के पास दो मकान हैं। लेकिन उसका पिता उन्हें घर पर हिस्सा नहीं दे रहा। जिस कारण उसका पिता से विवाद चल रहा है। इसी के चलते वह पत्नी के साथ घर से ही कुछ दूर किराये के मकान में रहता है। पत्नी की मौत के बाद वह शव को उस मकान में ले गया जहां वह किराये पर रहता है। लेकिन घर के मालिक ने वहां शव को रखवाने से मना कर दिया। वह शव को अपने घर ले जाने को कहने लगा। इस पर वे शव लेकर अपने पिता के मकान पर आ गया। यहां पर उसका पिता मकान का ताला लगाकर चला गया। बाद में उन्होंने मकान के गेट का ताला तोड़ा और शव को रखा।

थाना फर्कपुर प्रबंधक दिनेश सिंह चौहान ने कहा कि परिवार को समझा दिया है। ये इनका आपसी मामला है। इसमें पुलिस की कोई कार्रवाई नहीं बनती। महिला का अंतिम संस्कार सोमवार को होगा।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप