पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। ससुर की अस्थियां लेकर हरिद्वार जा रहे दामाद की मौत हो गई। जब ये बात परिवार वालों को पता चली तो घर में हाहाकार मच गया। मृतक कांसापुर की शिवपुरी-बी निवासी 35 वर्षीय सुखविंद्र कुमार था। 

अस्थियां ले जाते हुए सुखविंद्र सीने में दर्द हुआ। हालत खराब होने पर उन्हें रुड़की में अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

शिवपुरी-बी निवासी मान सिंह ने बताया कि उसका बेटा सुखविंद्र सिंह जिला कैथल के गांव खरका में स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में बतौर शाखा प्रबंधक कार्यरत था। सुखविंद्र सिंह के ससुर जुड्डा जटान निवासी सतपाल सिंह का निधन हो गया था। वह उनके परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उनकी अस्थियां लेकर हरिद्वार जा रहे थे। 

भगवानपुर गांव के पास हुआ सीने में दर्द

रास्ते में वे भगवानपुर गांव के नजदीक अचानक सुखविंद्र के सीने में दर्द होने लगा। साथ जा रहे लोगों ने उसे रूड़की के अस्पताल में भर्ती कराया जहां डाक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जैसे ही ये खबर उनके घर पहुंची तो वहां मातम छा गया। सुखविंद्र सिंह अपने पीछे सात साल का लड़का, चार साल की लड़की, पत्नी सीमा, माता-पिता व दो छोटे भाई बहन को छोड़ गए हैं। सुखविंद्र कुमार के निधन पर बैंक कर्मचारियों ने शोक जताया है।

जींद में तेल कैंटर व बाइक की टक्कर में निर्जन के युवक की मौत

जींद-रोहतक मार्ग पर गतौली गांव के पास तेल कैंटर व मोटरसाइकिल की टक्कर में बाइक सवार की मौत हो गई। पुलिस ने तेल कैंटर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। निर्जन गांव का सुमित मोटरसाइकिल पर सवार होकर जुलाना से गांव में जा रहा था। मंगलवार को जब वह जींद-रोहतक मार्ग पर गतौली गांव के पास पहुंचा मोटरसाइकिल व तेल कैंटर की टक्कर हो गई। गतौली चौकी प्रभारी कुलबीर ङ्क्षसह ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। सामान्य अस्पताल में मृतक सुमित के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस