पानीपत, जेएनएन। घर में बच्चा होने की खुशियां परिवार अभी ढंग से मना भी नहीं पाया था कि जवान बेटे की जान चली गई। 11 दिन तक मां नदी के कभी एक घाट तो कभी दूसरे घाट पर बेटे का इंतजार कर रही थी। लेकिन 11 दिन से उसका शव कब्र में दफन था। मां अभी भी अपने नौजवान बेटे की मौत पर यकीन नहीं कर पा रही है। कब्र से शव निकालकर पिता ने दाह संस्कार किया। मां कानूनी कार्रवाई में विश्वास रखते हुए इंसाफ की बाट देख रही है। पहचान होने के बावजूद भी पानीपत पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर पाई।

दरअसल 17 जून को सागर (18) की भाभी को बच्चा हुआ था। बबैल गांव से सागर चाचा बनने की खुशी में दोस्तों को पार्टी देने गया था। इसके बाद से वह घर नहीं लौटा। 25 जून को पिता किरणपाल ने डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स को सागर के दोस्तों महादेव, अजीत और लक्की के खिलाफ सागर को यमुना में डुबोकर मार डालने की शिकायत दर्ज करा दी। सेक्टर 13-17 थाना पुलिस ने मामला दर्ज करके यमुना नदी में सागर की तलाश की, लेकिन उसका सुराग नहीं मिला। वहीं, महादेव ने बताया था कि तीनों दोस्त यमुना पर नहाकर ऑटो से घर लौट रहे थे। तभी ऑटो पलट गया। इसके बाद से उसे तीनों दोस्तों के बारे में पता नहीं है।

कैराना पुलिस को यमुना में मिला था शव
18 जून को कैराना पुलिस को यमुना नदी में युवक का शव मिला। बनत अस्पताल में पोस्टमार्टम करा शव को शिनाख्त के लिए 72 घंटे रखा। उसके बाद मुस्लिम युवक समझकर दफना दिया गया। 26 जून को कैराना थाने गए पिता किरणपाल ने शव की शिनाख्त की। 28 को शामली के डीएम ने अनुमति दी तो पुलिस ने शव को कब्र से बाहर निकलवाया। सागर की मां पूनम का कहना है कि बचपन नें उसके बेटे को पेशाब का बंधा लगा था, तब उसका ऑपरेशन कराया था। अब परिजनों की मांग है कि जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर सागर की मौत के असल कारणों का खुलासा किया जाए।

मेरी कोख उजाड़ी, आजीवन कारावास की हो सजा
विलाप करती सागर की मां पूनम ने बताया कि बेटा दोस्‍तों को पार्टी देने के लिए गया था। लेकिन उन्‍होंने उसे डूबों कर मार डाला, उसकी कोख उजाड़ दी, आरोपितों को आजीवन कारावास की सजा हो।  

इस तरह पता चला कब्र में दफन है सागर का शव
पिता किरणपाल व मां पूनम को शव के फोटो दिखाए तो उन्होंने शव की शिनाख्त सागर के रूप में की। पूनम ने बताया कि उसके बेटे सागर ने घड़ी बांध रखी थी। पुलिस ने घड़ी को जो तस्वीर दिखाई है वे उसके बेटे की है। 

 

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप