जागरण संवाददाता, पानीपत : बस में सवार पानीपत से देहरादून जा रहा फौजी संदिग्ध हालात में लापता हो गया। पुलिस भी फौजी की तलाश में जुटी रही। उसके मोबाइल फोन पर पांच घंटे तक घंटी जाती रही, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। 52 घंटे बाद फौजी ने ड्यूटी ज्वाइन कर ली। इसके बाद ही स्वजनों ने राहत की सांस ली।

सोनीपत की तहसील खानपुर के सरगथल गांव के सुरेश कुमार ने पुलिस को शिकायत दी कि उसका बड़ा लड़का विक्रम (23) फौज में है, जिसकी फिलहाल देहरादून में पोस्टिग है। विक्रम 10 दिन की छुट्टी पर घर आया था। एक जुलाई की सुबह साढ़े सात बजे वह देहरादून के लिए निकला था। सुबह करीब 11:30 बजे उसने अपनी बहन भावना को मैसेज किया कि वह पानीपत से देहरादून के लिए बस से निकल गया है। इसके बाद परिजन उसे काल करने लगे तो उसने कोई जवाब नहीं दिया। शाम साढ़े चार बजे तक उसके मोबाइल पर काल जाती रही, लेकिन उसने एक भी काल रिसीव नहीं की। शाम साढ़े चार बजे के बाद उसका मोबाइल फोन स्विच आफ हो गया। इसके बाद से उसका स्वजनों को कोई भेद नहीं लगा। शुक्रवार को करनी थी ड्यूटी ज्वाइन

थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने बताया कि विक्रम को शुक्रवार को ड्यूटी ज्वाइन करनी थी। बस चालक से पूछताछ की तो उसने बताया कि विक्रम को देहरादून छोड़ दिया था। काल डिटेल से भी लोकेशन देहरादून की निकली। पुलिस देहरादून गई तो विक्रम ने रविवार दोपहर बाद उसने ड्यूटी ज्वाइन कर ली। पुलिस व स्वजन भी विक्रम के पास पहुंच गए हैं। विक्रम ही बता पाएगा कि वह कहां गए थे।

Edited By: Jagran