जागरण संवाददाता, पानीपत : बिझौल गांव के 10 वर्षीय वंश, 10 वर्षीय लक्ष्य और 12 वर्षीय अरुण की हत्या के आरोपित ब्लीच हाउस के मालिक हरिओम गुप्ता, मुनीम पवन बंसल, जमीन मालिक अश्विनी और उसकी मां निर्मला का 6 अगस्त को पॉलीग्राफ टेस्ट मधुबन एफएसएल में कराया जाएगा। करनाल एसआइटी (स्पेशल इनवेस्टिगेशन टीम) ने पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए एफएसल के निदेशक पत्र लिखा था। निदेशक ने इसकी स्वीकृति दे दी है। वहीं एसआइटी ने उक्त चारों आरोपितों का कोविड-19 टेस्ट करा दिया है। आरोपितों ने एक अगस्त को कोर्ट में पेश होकर इच्छा जाहिर की थी उनका पॉलीग्राफ टेस्ट कराया जाए।

बीते आठ जुलाई की सुबह बिझौल के ब्लीच हाउस के पास रजवाहे में लक्ष्य, वंश और अरुण के शव मिले थे। स्वजनों ने आरोप लगाया था कि ब्लीच हाउस के मालिक हरिओम गुप्ता, मुनीम पवन बंसल, जमीन मालिक अश्वनी, उसकी मां निर्मला सहित 12 लोगों ने बच्चों की ब्लीच हाउस के केमिकल के टैंक में डुबोकर हत्या की है। हत्या कर शवों को रजवाहे में फेंक दिया। थाना मॉडल टाउन में मामला दर्ज है। इस मामले व व लाठीचार्ज के मामले की जांच एसआइटी करनाल कर रही है। इन मामलों की एसआइटी ने प्रारंभिक जांच रिपोर्ट गृहमंत्री अनिल विज को सौंप दी है। डीएसपी जगदीप दून के नेतृत्व में काम कर रही एसआइटी ने मामले की गहराई से जांच के लिए गृहमंत्री विज से तीन सप्ताह का समय लिया है।

जहां लाठीचार्ज हुआ, वहीं से छह अगस्त से अनिश्चितकालीन धरना देंगे

बच्चों के हत्या आरोपितों की गिरफ्तारी और जेल में बंद 14 लोगों की रिहाई की मांग को लेकर बिझौल की चौपाल में धरना चल रहा है। इसमें निर्णय लिया गया कि छह अगस्त को सुबह दस बजे से लघु सचिवालय के सामने फ्लाईओवर के नीचे अनिश्चितकालीन धरना दिया जाएगा। इसमें प्रदेश भर के कश्यप समाज के लोग लोग शामिल होंगे। ये वही स्थल जहां पर 30 जुलाई को प्रदर्शन कर रहे कश्यप समाज के महिला व पुरुषों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। मंगलवार को बिझौल की चौपाल में धरने में फूलन देवी के पति उमेद सिंह कश्यप, संदीप भारद्वाज, पूर्व डीएसपी करताराम, जयभगवान नंबरदार, करनाल से नाथीराम, लख्मी चंद, नीरज, ईश्वर चंद और राजकुमार कश्यप मौजूद रहे। इस तरह की पोस्ट राजकुमार ने सोशल मीडिया पर पोस्ट की है। ्र

दो दिन में आ सकती है बिसरा व डायटम टेस्ट की रिपोर्ट

करनाल के एसपी एसएस भौरिया ने बताया कि बच्चों के मौत के मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। बाल कल्याण समिति द्वारा गवाह बच्चों से की गई पूछताछ, घटना के समय आरोपितों के मोबाइल की लोकेशन कहां की थी, कॉल डिटेल और रूट चार्ज का आंकलन किया जा रहा है। इसी तरह से लाठीचार्ज के मामले में वीडियो, फोटो व अन्य दस्वावेजों का भी आंकलन किया जा रहा है। दो दिन में बच्चों की बिसरा व डायटमल टेस्ट की रिपोर्ट आ जाएगी। इससे भी मामले से संबंधित काफी हद तक स्थित स्पष्ट हो जाएगी। इनसे पता चल जाएगा कि बच्चों को केमिकल के पानी में डुबोकर मारा गया है या नहीं। वैसे 21 दिन से पहले पूरे मामले की जांच कर सच सामने ले आएंगे।

कश्यप समाज के धरने को मिला वामपंथी पार्टियों का साथ

जासं, पानीपत : समाज के गिरफ्तार लोगों को रिहा करने की मांग को लेकर कश्यप समाज के धरने को वामपंथी पार्टियों ने अपना समर्थन दिया है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव दरियाव सिंह कश्यप के नेतृत्व में सीपीआइ और सीपीएम के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने धरनास्थल पर पहुंच कर धरने पर बैठे कश्यप समाज के वरिष्ठ नेता महेन्द्र सिंह कश्यप, नीरज कश्यप, पवन कश्यप, साहिल कश्यप को संघर्ष में सहयोग का आश्वासन दिया है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस