पानीपत, जेएनएन। सावन के पहले सोमवार को शिव मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की भीड़ रही। शिव की अराधना के लिए सुबह से ही मंदिरों में भक्तों की कतार लग गई। जयकारों से मंदिर परिसर गूंजायमान था। भक्तों ने भोले शंकर का पूजन कर घर-परिवार में सुख-समृद्धि बनाए रखने की कामना की। शिवालयों में जुटे श्रद्धालुओं के उत्साह को देखिए इन तस्वीरों में। 

 sawan

कुरुक्षेत्र का खास महत्व
सन्निहित सरोवर के तट पर स्थित श्रीदुखभंजन महादेव मंदिर, कालेश्वर महादेव, मंदिर, सर्वेश्वर महादेव मंदिर, स्थाणीश्वर मंदिर, पिहोवा के अरूणाय स्थित संगमेश्वर मंदिर सहित सभी शिवालयों में जलाभिषेक करने वाले भक्तों का तांता लगा रहा। 

 sawan

श्रीदुखभंजन महादेव मंदिर का महत्व
श्रीदुखभंजन महादेव मंदिर का इतिहास हजारों वर्ष पुराना बताया जाता है। मंदिर से संबंधित कई कथाएं प्रचलित हैं, जो इसकी महत्ता का वर्णन करती हैं। एक कथा के मुताबिक पांडवों ने अपने कष्टों से निवृत्ति के लिए यहां शिवलिंग की पूजा की थी और इसके बाद उनके सारे कष्ट दूर हो गए। इसके बाद से यहां स्थापित शिवलिंग को दुख भंजन के नाम से जाना जाने लगा। यहां की मान्यता है कि जो व्यक्ति पांच सोमवार को यहां शिव की पूजा करता है भगवान शिव उसके सारे दुखों का भंजन कर देते हैं। सन्निहित सरोवर के तट पर स्थित भगवान शिवलिंग स्वरूप को पूजने के लिए यहां प्रत्येक सोमवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं।

sawan

sawan

यमुनानगर में शिव पूजन करते लोग। 

sawan

sawan

sawan

sawan

sawan

sawan

sawan

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप