अंबाला, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में यह पहला मौका आ रहा है जब शिक्षा विभाग पहली से बारहवीं तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खुलेंगे। अब पहली से तीसरे तक के विद्यार्थियों के लिए भी स्कूल 20 सितंबर से खोले जा रहे हैं। हालांकि कहा नहीं जा सकता है कि स्कूल आने वाले विद्यार्थियों की संख्या कितनी रहेगी, लेकिन शिक्षा विभाग ने सभी सरकारी व निजी स्कूलों को इस संबंध में दिशा निर्देश दे दिए हैं। खास है कि स्कूलों को पचास फीसद विद्यार्थी संख्या के साथ ही स्कूल खुलेंगे। अब स्कूल भी इसी को लेकर अपनी तैयारियों मे जुट गए हैं। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मेनब्रांच अंबाला कैंट ने बताया कि बीस सितंबर से स्कूलों को पहली से तीसरी तक के विद्यार्थियों के लिए कक्षाएं खुलेंगी। इसके लिए व्यवस्थाएं बना रहे हैं।

यह जारी किए गए हैं निर्देश

शिक्षा विभाग ने सभी निजी व सरकारी स्कूलों के लिए लैटर जारी किए हैं। इस संबंध में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक, खंड शिक्षा अधिकारी व खंड मौलिक शिक्षा अधिकारियों को इस पर निगरानी के निर्देश दिए हैं। अब 20 सितंबर 2021 से पहली से तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूल आने की इजाजत रहेगी। इसके लिए स्टेंडर्ड आपरेशन प्रोसीज़र (एसओपी) और प्रशिक्षण वीडियो अध्यापकों, अभिभावकों व विद्यार्थियों के लिए पहले ही उपलब्ध करवा दी है। इसका प्रसारण एजुसेट के माध्यम से भी किया जा रहा है। इस में निर्देश दिए हैं विद्यार्थी आनलाइन भी पढाई जारी रख सकते हैं। विद्यार्थियों का अपने माता-पिता की लिखित अनुमति के मिलने पर ही स्कूल में आने दिया जाएगा, जबकि विद्यार्थियों को स्कूल में उपस्थिति की बाध्यता नहीं रहेगी।

पहली बार सभी कक्षाओं को खोला गया

कोरोना काल में 25 मार्च 2020 से लेकर अब तक यह पहली बार होगा कि जब सभी कक्षाओं को विद्यार्थियों के लिए खोला जाएगा। हालांकि इस में पचास फीसद विद्यार्थी संख्या रहेगी। ऐसे में स्कूलों को अपने स्तर पर ही इसको लेकर व्यवस्था करनी होगी।

यह रहेगा टाइम शेड्यूल

स्टाफ के लिए सुबह साढ़े आठ बजे से दोपहर डेढ़ बजे तक समय रहेगा। इसके अलावा पहली से तीसरी कक्षा के विद्यार्थी सुबह नौ बजे से दोपहर बारह बजे तक कक्षा अटेंड कर सकेंगे।

रेणु अग्रवाल, खंड शिक्षा अधिकारी अंबाला कैंट।

20 सितंबर से स्कूल आ सकते हैं विद्यार्थी

अंबाला कैंट की खंड शिक्षा अधिकारी रेणु अग्रवाल ने बताया कि पहली से तीसरी कक्षा तक के विद्यार्थी 20 सितंबर से स्कूल आ सकते हैं, जिसके लिए अभिभावकों की लिखित अनुमति चाहिए। पचास फीसद विद्यार्थी संख्या रहेगी, जबकि स्कूलों को एसओपी के तहत व्यवस्थाएं बनानी होंगी।

Edited By: Rajesh Kumar