पानीपत, जेएनएन। आठ मरला चौक पर तेज रफ्तार कार को रोकने का एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) ने प्रयास किया। चालक ने कार नहीं रोकी और बोनट पर लटके एसपीओ को गिराने के लिए 100 मीटर दूर तक ले गया। कार को बाइक, खंभे और फिर रविंद्रा अस्पताल के पास सड़क पर खड़ी ई-रिक्शा से टकरा दिया। इससे एसपीओ नीचे गिरा और सड़क से सिर टकराने से बेहोश हो गया। रिक्शा चालक भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

होमगार्ड, राहगीरों व अन्य वाहन चालकों ने इधर-उधर भागकर जान बचाई। वारदात सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गई है। कार कालखा गांव के सावन की बताई जा रही है। सावन के खिलाफ पहले भी चोरी, डकैती के कई मामले दर्ज हैं। पुलिस ने भालसी गांव के पास एक वर्कशाप से एचआर 26एवी 1758 कार बरामद कर ली है। कार सुनील नामक व्यक्ति के नाम है। पुलिस असंध नाका से लेकर मतलौडा तक वर्कशाप की छानबीन कर रही थी।

घटना सुबह 9:30 बजे की है। ट्रैफिक जोन-2 के एसआइ रङ्क्षवद्र कुमार ने बताया कि वह, एसपीओ पलड़ी गांव के जोगिंद्र सहरावत हाल पता सौंधापुर, एसपीओ सूर्यकांत, होम गार्ड के जवान सुरेंद्र और मुकेश आठ मरला चौक पर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान देशवाल चौक की तरफ से जाटल रोड पर तेज रफ्तार से एसेंट कार आ रही था। चौक पर होमगार्ड सुरेंद्र ने गाड़ी रोकने का इशारा किया।

चालक ने शीशा नीचे किया और धमकी दी कि साइड में हो जाओ नहीं तो गाड़ी चढ़ामार डालूंगा। तेज रफ्तार से कार सुरेंद्र की तरफ मोड़ दी। सुरेंद्र एकदम भागकर दूसरी साइड में हुआ और जान बचाई। सामने खड़े एसपीओ जोगिंद्र को कार टक्कर मारी। टक्कर लगते ही जोगिंद्र कार के बोनट पर गिरा और शीशे पर मुक्का मारकर चालक को रोकने को बोलता रहा। उन्होंने व राहगीर ने चालक को रोकने का प्रयास किया।

चालक गाड़ी को लेकर रविंद्रा अस्पताल की तरफ भाग गया और बाइक सवार को टक्कर मारी। फिर खंभे से गाड़ी टकराई और रविंद्रा अस्पताल के पास खड़े ई-रिक्शा को टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही एसपीओ बोनट से छिटक कर सड़क पर गिर गए और रिक्शा चालक दिलखुश के पैर में गंभीर चोट लगी। आरोपित चालक कार सहित मॉडल टाउन में ईजी डे की तरफ भाग गया।

आरोपित चालक ने मुंह पर मास्कर लगा रखा था। इसी वजह से उसकी पहतान नहीं हो पाई। दोनों घायलों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सिर की चोट की वजह से एसपीओ जोगिंद्र कोमा में है और हालत गंभीर बनी हुई है। वारदात के बाद एसपी मनीषा चौधरी अस्पताल पहुंची और डॉक्टरों से जोगेंद्र के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। स्वजनों को आश्वासन दिया कि उनकी हर संभव मदद की जाएगी। जोगिंद्र के इंस्पेक्टर पिता रणबीर ङ्क्षसह की मौत हो चुकी है। परिवार में पत्नी मीनू और बेटा अमन है।   

आरटीए से भी कर चुका है झगड़ा

पुलिस के अनुसार कालखा गांव सावन आरटीए से भी झगड़ा कर चुका है। उसे चोरी व डकैती के केस में सीआइए-टू ने गिरफ्तार किया था। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार पर पुलिस ने जांच की। कार के नंबर से मालिक कालखा के सावन का पता चला। कार की लोकेशन राजनगर में मिली थी। वहां पर पुलिस टीम पहुंची तब तक आरोपित भाग चुका था। आरोपित कालखा में कार छोड़कर भाग गया था।

----एसआइ रविंद्र के बयान पर कार चालक के खिलाफ हत्या के प्रयास सहित पांच धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपित कार चालक की तलाश की जा रही है।

सुनील कुमार, प्रभारी, थाना मॉडल टाउन

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस