पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। रोडवेज यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने डीआइ पर अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। कर्मचारियों ने वर्कशाप गेट पर ताला लगा दिया। करीब ढाई घंटे तक ताला लगाए रखा। इससे जाम लग गया। जीएम लेखराज को डीआइ निर्मल सिंह के खिलाफ शिकायत दी।  वहीं डीआइ किसी भी प्रकार की अभद्रता किए जाने के आरोप को गलत बता रहे हैं। 

यूनियन के पदाधिकारियों के अनुसार बस संख्या एचआर-58 7273 के चालक एक दिवसीय अवकाश के लिए आवेदन किया था। जिस पर अधिकारी ने उनको बताया कि वे छुट्टी नहीं दे सकते। कपालमोचन मेले के मद्देनजर आपातकालीन स्थिति में अवकाश मिल सकता। फिलहाल अवकाश नहीं मिलेगा। इस बात को लेकर उनके साथ बहस करने लगा। उनको भला बुरा कहा। इस पर यूनियन के सभी पदाधिकारी एकत्रित हो गए। वर्कशाप गेट पर ताला लगा दिया। बसें गेट पर रुक गई। राहगीरों की भीड़ भी लग गई। सिटी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिसकर्मियों ने गेट खोलने की बात कही, लेकिन कर्मचारी कार्रवाई की जिद पर अड़े रहे। जब बात नहीं बनी तो मुलाकात के लिए जीएम के पास पहुंचे। 

2 घंटे 20 मिनट वर्कशाप से बाहर नहीं आई बस

10.30 बजे वर्कशाप गेट पर कर्मियों ने ताला लगा दिया। बसें अंदर कैद कर ली। इस दौरान कोई बस अंदर से बाहर नहीं आई। जिन बसों को वर्कशाप के अंदर जाना था, वे सड़क किनारे खड़ी की गई। बस बाहर खड़ी देखकर राहगीर भी रुक गए। इस दौरान विभिन्न जिलों की ओर जाने वाली बस सेवा प्रभावित हुई। केवल वहीं बस रवाना हुई जो पहले से रोडवेज परिसर के अंदर काउंटर पर लगी थी। 

45 मिनट हुई जीएम बातचीत 

यूनियन के पदाधिकारी प्रधान रविंद्र सिंह, हरिनारायण शर्मा, मनिंद्र व अन्य कर्मचारी जीएम से मिलने गए। उनको मामले से अवगत कराया। प्रधान रङ्क्षवद्र ने बताया कि चालक करनाल में नाइट ड्यूटी कर आया था। उसके बाद उसे दिल्ली जाने के लिए कह दिया गया। पारिवारिक कारणों के चलते वह अवकाश लेने गया। उसको अवकाश देने की बजाए अभद्रता की गई।  45 मिनट की बातचीत के बाद यूनियन ने मामले में कार्रवाई की मांग की। जीएम ने डीआइ की बात भी सुनी। उन्होंने बताया कि उन्होंने किसी कर्मी से कोई अभद्रता नहीं की, केवल इतना कहा है कि कपालमोचन मेले के कारण अवकाश नहीं दिया जा सकता। जीएम ने मामले में निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाया जिस पर कर्मी शांत हुए। वर्कशाप गेट का ताला खोला गया। 

रोडवेज जीएम लेखराज ने बताया कि उनके पास यूनियन ने शिकायत दी है। इसमें डीआइ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। वह  अपने स्तर पर मामले में जांच करेंगे। जांच में जो भी आरोपित होगा उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।  क्योंकि  दोनों पक्षों में किसी ने भी उनको सूचित नहीं किया। वर्कशाप गेट पर ताला लगाने के दौरान प्रभावित हुई बस सर्विस पर कहा कि इसका बाद में पता चलेगा। रूट बुक देकर ही बता पाएंगे। 

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप