जागरण संवाददाता, पानीपत : मानसिक-शारीरिक मजबूती में योग क्रियाओं के महत्व का लोहा आज पूरा विश्व मान रहा है। योग हमारी संस्कृति का हिस्सा है। इंटरनेट युग की यह पीढ़ी दैनिक जीवन में योग को अपना ले तो बीमारियां अपना घर नहीं बना सकेंगी। विद्यालयों में योग क्लास लगनी चाहिए।

भारत स्वाभिमान एवं पतंजलि योग समिति, पानीपत के 15वें स्थापना दिवस पर मुख्य वक्ता डॉ. टीडी रंजन ने ये बातें कही। आयोजन आर्य पीजी कॉलेज में हुआ। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन 200 कदम पीछे हटें तो मोटापा, शुगर और उच्च रक्तचाप से मुक्ति मिलेगी।

मुख्य अतिथि एवं कॉलेज के प्राचार्य जगदीश गुप्ता ने कहा कि योग शिक्षकों के खिले चेहरे प्रभावित करते हैं। कॉलेज में भी इन शिक्षकों की सेवाएं ली जाती रही हैं। संस्थाओं की ओर से भी कॉलेज परिसर में योग शिविर आयोजित होते रहे हैं। भारत स्वाभिमान के जिला प्रभारी शीशपाल ने एक्युप्रेशर चिकित्सा पद्धति की जानकारी दी। पतंजलि योग समिति के जिला प्रभारी अशोक अरोड़ा ने योग एवं प्राणायाम का अभ्यास कराया, लाभ भी बताए। समापन से पहले सभी योग शिक्षकों को योग गुरु स्वामी रामदेव ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया।

इस मौके पर रघुवीर सैनी, गुलशन बतरा, आरडी गुप्ता, रामपाल शर्मा, महेंद्र, मदनपाल, देवराज सहित सैकड़ों योग शिक्षक मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप