कैथल, जेएनएन। गेहूं की फसल का पंजीकरण कराने से वंचित रहे किसानों को फिर से राहत दी गई है। विभाग ने दोबारा से मेरी फसल मेरा ब्‍यौरा पोर्टल खोल दिया है। बता दें कि इससे पहले दोनो दिन पांच व छह अप्रैल को पोर्टल खोला गया था। उसके बाद फिर बंद कर दिया गया था, इन दो दिनों में साइट धीमी चलने के कारण 20 फीसदी किसान पंजीकरण नहीं करवा पाए थे। वंचित किसानों के लिए पंजीकरण करवाने के लिए विभाग ने मौका दिया है। ताकि किसानों को फसल बेचने में किसी तरह की परेशानी न आए। वंचित किसान अपना पंजीकरण करवा सकें।

फसल बेचने के लिए मेरी फसल मेरा ब्‍यौरा पर पंजीकरण जरूरी

फसल को मंडी में बेचने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर फसल का पंजीकरण अनिवार्य होना जरूरी है। पंजीकरण के बिना फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर नहीं बिकेगी। गेट पास काटते समय पंजीकरण के आधार पर फसल को खरीदा जाता है। बता दे कि विभाग की तरफ से पांच व छह अप्रैल को पोर्टल खोला गया था, उस समय साइट धीमी रहने के कारण पंजीकरण करवाने से किसान वंचित रह गए थे, किसानों ने मांग की थी कि पोर्टल खुला रहना चाहिए, ताकि फसल का पंजीकरण हो और समय पर फसल को बेच सके।

पंजीकरण करवाने का किसानों को दिया है मौका: कर्मचंद

कैथल कृषि विभाग के उपनिदेशक कर्मचंद ने कहा कि जो किसान पांच व छह अप्रैल को मेरी फसल-मेरा ब्‍यौरा पोर्टल पर पंजीकरण नहीं करवा सकें। अब उनको मौका दिया गया है, लेकिन इस बार अंतिम तिथि अब तक निर्धारित नहीं की गई है। पोर्टल किसानों के लिए खुल गया है। इसलिए जो भी किसान अपना पंजीकरण नहीं करवा पाए थे, वह किसान अब अपनी फसलों का पोर्टल पर पंजीकरण जरूर करवा लें। ताकि पेमेंट लेते समय किसानों को परेशानी न हो।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021