अंबाला, जागरण संवाददाता। डिजिटल का प्रचलन बढ़ने के साथ ही आजकल सबकुछ डिजिटल ही किया जा रहा है। फोन-पे, गूगल-पे और पेटीएम के जरिए पैसों का लेनदेन किया जा रहा है। अस्पतालों में भी अब मरीज आनलाइन पेमेंट कर पाएंगे। जिससे उन्हें नगद भुगतान करने से छुटकारा मिलेगा। अंबाला नागरिक अस्पताल की आउटडोर पेशेंट डिपार्टमेंट (ओपीडी) में रजिस्ट्रेशन के लिए 5 रुपये शुल्क नगद भुगतान करने से छुटकारा मिलने जा रहा है।

ओपीडी पंजीकरण काउंटर पर होगा रिसीबर

आनलाइन भुगतान के लिए सिविल अस्पताल के आइसीआइसीआइ करंट अकाउंट से लिंक होगा और इसका रिसीबर ओपीडी पंजीकरण काउंटर पर होगा। पंजीकरण शुल्क का भुगतान रिसीब होते ही मैसेज प्रसारित होगा और कार्ड काउंटर से संबंधित को दे दिया जाएगा। अगर कोई मरीज अथवा तीमारदार नगद भुगतान करना चाहता है तो वह भी सुविधा रहेगी।

सिविल अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए किए जाने वाले सभी शुल्कों की अब आनलाइन पेमेंट की जा सकेगी। इसके लिए आइसीआइसीआइ बैंक में अस्पताल के स्वास्थ्य कल्याण समिति के नाम संचालित होने वाले खाते का बारकोड बना दिया गया है। बैंक से बार कोड बना दिया गया है। अब काउंटर पर लगाए जाने वाले बारकोड का रिसीबर नागरिक अस्पताल के लिपिक बंटी को हैंडओवर करने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने बैंक को पत्र लिख दिया है। अस्पताल प्रबंधन ने उम्मीद कर रहा है कि रिसीबर मिलते ही ओपीडी के पंजीकरण काउंटर पर इसे स्थापित कर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य सेवाओं का खाता सीधे अस्पताल

डिप्टी मेडिकल सुप्रिटेंडेंट विनय गोयल ने बताया कि अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जमा होने वाले शुल्क सीधे अस्पताल के खाते में पहुंचे ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है। अभी ओपीडी में यह सुविधा शुरू की जा रही है, जल्द ही अन्य शुल्क के लिए भी अलग अलग रिसीबर लगाए जाने की योजना है। अगर कोई नगद शुल्क जमा करना चाहता है तो यह सुविधा पहले की तरह चलती रहेगी।

Edited By: Rajesh Kumar