जागरण संवाददाता, पानीपत : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को नए साल के पहले दिन 10वीं किश्त जारी कर दी। हालांकि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई उक्त योजना के लाभार्थी किसानों की संख्या जिले में घटती जा रही है। योजना की शुरुआत में जहां 52 हजार से ज्यादा किसानों को पहली किश्त प्राप्त हुई थी, वहीं नौंवी किश्त आते-आते लाभार्थी किसानों की संख्या 37 हजार तक आ पहुंची है। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारी लाभार्थी किसानों की घटती संख्या के पीछे एक नहीं, बल्कि अनेक कारण बता रहे हैं। जांच में 1380 किसान आयकर देने वाले पाए गए। उन्हें तो विभाग रिकवरी को लेकर नोटिस तक थमा चुका है। अभी तक किसी किसान से रिकवरी नहीं हो पाई है। वर्ष 2018 में शुरू हुई थी योजना--

केंद्र सरकार ने दिसंबर 2018 में किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। शुरुआत में पांच एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को शामिल किया गया था। बाद में इससे ज्यादा जमीन वाले किसानों को भी शामिल कर लिया गया। योजना के तहत साल भर में दो-दो हजार की तीन किश्तों में किसान को छह हजार रुपये मिलते हैं। योजना की शुरुआत से लेकर किसान लगातार किश्त पा रहे हैं। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपनिदेशक डा. वीरेंदर देव आर्य ने बताया कि उक्त योजना किसानों के लिए अच्छी है, लेकिन जांच के दौरान कुछ अपात्र किसान भी पाए गए हैं। जिन्हें लाभार्थी की सूची से हटा दिया गया है। शनिवार को 10वीं किश्त भी जारी कर दी गई। लाभार्थी किसान कम होने के कारण

--केवल पात्र किसानों को योजना का लाभ मिले, इसको लेकर केंद्र सरकार की तरफ से कराई जांच में काफी किसान अपात्र मिले।

--जिले में 1380 किसान आयकर देने वाले मिले। उन्हें लाभार्थी की श्रेणी से हटाया गया है।

--काफी युवा किसान नौकरी मिलने पर खुद लाभार्थी की सूची से बाहर हो गए।

--कई बैंक दूसरे बैंकों में मर्ज हुए तो उनके आइएफएससी कोड बदलने पर भी काफी किसानों की किश्त अटक गई।

--कुछ किसान मृत्यु होने पर लाभार्थी सूची से बाहर हो गए हैं। कितने किसानों को मिली कौन सी किश्त--

पहली -------52313

दूसरी -------52288

तीसरी -------52021

चौथी --------50674

पांचवीं --------48441

छठी ---------47078

सातवीं --------43269

आठवीं --------42994

नौंवी --------37439

Edited By: Jagran