अंबाला, जागरण संवाददाता। जम्मू में मां वैष्णो देवी के दर्शन करने जाने वालों श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है। रेलवे 1 जुलाई से टाटानगर-जम्मूतवी मार्ग पर मुरी एक्सप्रेस का संचालन करने जा रहा है। ट्रेन का ठहराव अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन पर भी होगा। ट्रेन कोरोना काल के लगभग सवा दो साल बाद संचालित हो रही है।

टाटानगर से 21 कोच की यह ट्रेन बुधवार, शुक्रवार और रविवार को चलेगी , जबकि जम्मूतवी से सोमवार बुधवार और शनिवार को ट्रेन रवाना होगी। वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक हरि मोहन ने बताया कि ट्रेन नंबर 18101 टाटानगर स्टेशन से शाम 5.05 बजे चलकर दूसरे दिन रात लगभग 2 बजे अंबाला छावनी और दोपहर 2.10 बजे जम्मूतवी पहुंचेगी। वापसी में ट्रेन नंबर 18102 जम्मूतवी स्टेशन से दोपहर लगभग 2.20 बजे रवाना होकर रात 2.30 बजे अंबाला छावनी और दूसरे दिन सुबह 9.50 बजे ट्रेन टाटानगर पहुंचेगी।

टाटा से मुरी-चोपन-सोनभद्र-चुनार के रास्ते प्रयागराज, कानपुर व दिल्ली होकर जम्मू जाने वाली इस ट्रेन से विंध्याचल, कटरा वैष्णो माता एवं अमृतसर स्वर्ण मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं को राहत मिलेगी। इस ट्रेन में दो लगेज यान सहित दो सामान्य श्रेणी के कोच, सात शयनयान श्रेणी के कोच, एक रसोई भंडार यान, सात तृतीय वातानुकूलित कोच, दो द्वितीय वातानुकूलित कोच समेत 21 कोच होंगे।

यात्रियों को मिलेगी ये सुविधा

दैनिक सहित मासिक सीजन टिकट यात्रियों को 1 जुलाई से अनारक्षित ट्रेन में सफर करने की सुविधा मिलेगी। यह ट्रेन अंबाला से बठिंडा के बीच दोनों दिशाओं में संचालित होगी। रेलवे से निर्देश मिलते ही अंबाला मंडल ने ट्रेन संचालन को लेकर तैयारी पूरी कर ली है। ट्रेन पुराने नंबर 54552 के मार्ग पर संचालित होगी। ट्रेन का नया नंबर 04557 व 04558 रखा गया है। अंबाला मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक हरि मोहन ने बताया कि ट्रेन पूरी तरह से अनारक्षित होगी। इसमें आरक्षण की जरूरत नहीं होगी। ट्रेन में 5 जनरल और 2 मालवाहक कोच लगे होंगे। रोजाना संचालित होने वाली ट्रेन में 1 जुलाई से यात्रियों को सफर करने की अनुमति प्रदान की दी जाएगी।

यह होगी समय सारिणी

ट्रेन नंबर 04557 अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन से दोपहर 1 बजे रवाना होकर शाम 5.50 बजे बठिंडा पहुंचेगी। वापसी में ट्रेन नंबर 04558 बठिंडा रेलवे स्टेशन से सुबह 7.30 बजे रवाना होकर सुबह 11.40 बजे अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन पहुंचेगी। बीच रास्ते ट्रेन अंबाला शहर, राजपुरा, पटियाला, नाभा, धूरी, सेखा, बरनाला, तपा, रामपुरा फूल, भुच्चु, बठिंडा कैंट स्टेशन पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी।

Edited By: Rajesh Kumar