पानीपत, जागरण संवाददाता। कोरोना महामारी काल में हर वर्ग पर संकट आया, इसके बावजूद हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हशविप्रा) के विभिन्न सेक्टरों प्लाट्स की आसमान छूती कीमतें शहरवासियों को चौंका रही हैं। वर्तमान में भी हशविप्रा के कई सेक्टर में 500 से अधिक भू-खंड नीलामी की बाट जोह रहे हैं।

हशविप्रा अपने 16 रिहायशी, 16 कामर्शियल प्लाट बेचने जा रहा है। इनकी ई-नीलामी छह अगस्त को है। इच्छुक व्यक्ति चार अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं। अब बात करते हैं बेस प्राइस की। सेक्टर 24 में कलेक्टर रेट 10 हजार 500 रुपये प्रति वर्ग गज है और इस बार बेस प्राइस 18 हजार 314 रुपये प्रति वर्ग गज तक रखी गई है। सेक्टर-24 में 435 वर्ग मीटर के प्लाट की बेस प्राइस 95.23 लाख रखी गई है। 25 जून 2021 को भी हशविप्रा 19 रिहायशी प्लाट की ई-नीलामी की थी और इसी साइज का प्लाट 1.45 करोड़ रुपये में बिका था। प्लाट इतना महंगा बिकने के कारण, आसपास के प्लाट्स की रि-सेल वेल्यू बढऩी स्वभाविक है।

जून में हुई नीलामी में मात्र 19 प्लाट की ई-नीलामी हुई थी। इस बार भी 32 प्लाट रखे गए हैं, जबकि खरीदार चार गुना होते हैं। इसलिए प्लाट की बोली आसमान छू जाती है। आवासीय-कामर्शियल सुविधा मुहैया कराने की प्रतिबद्धता से हटकर हशविप्रा ने भी प्लाटों को अधिकाधिक राजस्व का जरिया बना लिया है।

420 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर संख्या संख्या

सेक्टर-6 05

सेक्टर-12 01

सेक्टर 13-17 16

सेक्टर-18 18

सेक्टर 24 21

209 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-6 10

सेक्टर-7 05

सेक्टर-8 47

सेक्टर-12 15

सेक्टर-18 26

सेक्टर-24 11

सेक्टर-40 07

180 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-6 02

सेक्टर-18 11

सेक्टर-40 11

299 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-6 08

सेक्टर-7 02

सेक्टर-18 21

सेक्टर-24 10

सेक्टर-40 03

138.6 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-6 11

सेक्टर-7 12

सेक्टर 13-17 04

सेक्टर-18 02

सेक्टर-24 17

सेक्टर-25 03

सेक्टर-40 09

97.5 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-6 09

सेक्टर-8 02

सेक्टर-12 01

सेक्टर-18 02

सेक्टर-24 18

सेक्टर-25 98

सेक्टर-40 03

55 वर्ग मीटर के प्लाटों को नीलामी का इंतजार

सेक्टर-12 11

सेक्टर 13-17 17

सेक्टर-18 63

सेक्टर-24 05

अधिक राजस्व हमारा उद्देश्य

हशविप्रा की संपदा अधिकारी अनुपमा मलिक ने बताया कि प्लाटों की नीलामी अब हर माह होगी। रेट बढऩे का मुख्य कारण आसानी से होम लोन मिलना है। सेक्टरों में सड़क, सीवर, बिजली, पार्क की सुविधाएं भी बेहतर हैं। प्राधिकरण का काम अधिकाधिक राजस्व वसूली भी है।

Edited By: Anurag Shukla