करनाल, जेएनएन। मौसम में फिर बदलाव की संभावना से किसान चिंतित नजर आ रहे हैं। पांच अप्रैल तक मौसम साफ रहेगा और इसके बाद बदलाव देखने को मिल सकता है। छह व सात अप्रैल को बरसात के आसार बन रहे हैं। जबकि अधिकतम में बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। बरसात की संभावना बनने से गेहूं कटाई का काम प्रभावित होने के साथ ही गेहूं की पकी हुई फसल पर भी असर पड़ेगा।

करनाल में शनिवार को अधिकतम तापमान 32.1 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 9.5 डिग्री रहा। आद्रता 55 प्रतिशत रही। न्यूनतम तापमान में कमी आने से सुबह व शाम के समय हलकी ठंड महसूस की गई। जबकि दिन के समय गर्मी का असर देखने को मिला। मौसम विभाग के अनुसार चार व पांच अप्रैल को मौसम साफ रहेगा और अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। इसके साथ ही न्यूनतम तापमान में भी इजाफा होगा। इससे गर्मी का असर बढ़ सकता है। इन दो दिन में गेहूं कटाई के कार्य में तेजी आएगी तो साथ ही मंडी में गेहूं की आवक में भी तेजी आएगी।

गेहूं की फसल पर पड़ सकता है विपरीत प्रभाव

लेकिन छह व सात अप्रैल को बरसात की संभावना पैदा हुई है। इससे गेहूं की फसल पर विपरित असर पड़ सकता है। जबकि मंडी में गेहूं की आवाक तेज होने से उसे बरसात से बचाने के लिए मंडी प्रशासन को मशक्कत करनी होगी। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार अभी मौसम गेहूं की फसल के अनुकूल बना हुआ है। गेहूं की फसल अच्छी तरह से पक रही है और गेहूं कटाई का कार्य भी तेजी से चल रहा है। बरसात की संभावना जरूर चिंता पैदा कर रही है।

 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ेंः यह भी पढ़ेः Murder in Panipat: सीवरेज कनेक्शन के विवाद में हत्या, गोली मारी, चाकू घोंपे, दुकान में घुसा तो वहां भी नहीं छोड़ा

 

यह भी पढ़ेः Panipat news: पानीपत के बड़े साइकेट्रिस्ट डॉ. सुदेश खुराना लापता, जीटी रोड पर मिली साइकिल

Edited By: Umesh Kdhyani