करनाल, जेएनएन। पारा आहिस्ता आहिस्ता ऊपर की ओर चढ़ना शुरू हो गया है। दो दिन पहले जहां तापमान 32 डिग्री के आसपास था, वहीं अब तापमान 36 डिग्री के पार चला गया है। इसी बीच में मौसम विभाग ने दो दिन बरसात होने की संभावना जाहिर की है। छह व सात अप्रैल को बरसात होने के आसार बन रहे हैं। दूसरी ओर गेहूं कटाई का कार्य पूरी तरह से जोर पकड़ चुका है। ऐसे में बरसात की संभावना ने किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

करनाल में सोमवार को अधिकतम तापमान 36.2 डिग्री रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री रहा। आर्द्रता 47 प्रतिशत दर्ज की गई। पिछले दो दिन से न्यूनतम व अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। पारा बढ़ने के साथ ही गर्मी सताने लगी है। दिन के समय लोग घरों से बाहर निकलने से बचने लगे हैं। इसके साथ ही मौसम विभाग ने छह व सात अप्रैल को बरसात की संभावना जताई है। इसके साथ ही अधिकतम तापमान में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। दो दिन बरसात के बाद अधिकतम व न्यूनतम तापमान में कुछ कमी आ सकती है।

खेतों में फसल पककर तैयार

दूसरी ओर खेतों में फसल पककर तैयार हो चुकी है। मंडी में भी गेहूं की आवक में भी आहिस्ता आहिस्ता से तेजी आ चुकी है और खेतों में गेहूं कटाई का कार्य तेज हो चुकी है। इसी बीच में बरसात की संभावना से किसान चिंतित हो चुके हैं। क्योंकि बरसात होने की स्थित में गेहूं की फसल पर विपरीत असर पड़ेगा और गेहूं कटाई का कार्य भी बाधित हो जाएगा। इसके साथ ही मंडी में गेहूं को बरसात से बचाने के लिए भी किसानों व मंडी प्रशासन को मशक्कत करनी पड़ेगी।

यह भी पढ़ेंः सावधान! ऐसे क्लोन होते हैं एटीएम कार्ड, महिलाएं और बुजुर्ग रहते हैं निशाने पर

यह भी पढ़ेंः हरियाणा ने साथ नहीं दिया, उसने दिल्‍ली को बना दिया चैंपियन, पढ़ें अमन की ये जबरदस्‍त कहानी

यह भी पढ़ेंः  कोरोना और गर्मी से बचाएगा योग, इन यौगिक क्रियाओं को करने से दूर रहेगी गर्मी

 

Edited By: Umesh Kdhyani