जागरण संवाददाता, पानीपत : स्वच्छ भारत मिशन के तहत गणतंत्र दिवस समारोह से पहले सभी गांवों को पोलिथिन फ्री विलेज बनाना है। पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी इसमें विशेष सहयोग देंगे। लघु सचिवालय में बुधवार को आयोजित जिला स्तरीय कार्यशाला में यह बात अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने कही।

उन्होंने कहा किस्वच्छ भारत मिशन व स्वच्छता ही सेवा अभियान के तहत प्रदेश के सभी गावों को 26 जनवरी से पूर्व पोलिथिन फ्री विलेज बनाना हरियाणा सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। सरकार ने निर्धारित तिथि से पूर्व सभी गावों को पोलिथिन फ्री विलेज बनाने के लिए पंचायती राज संस्थाओं के सभी पदाधिकारियों व सदस्यों का इस मामले में विशेष सहयोग लेने का निर्णय लिया है। पोलिथिन एक ऐसा पदार्थ है जो जलाने से भी खत्म नही होता। इसे जलाते वक्त जो जहरीली गैस निकलती है उससे खांसी, कैंसर और आखों की रोशनी पर भी गलत प्रभाव पड़ता है। यह कूड़े के साथ मिलकर खेतों में पंहुच जाती है। जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति कमजोर हो जाती है। यदि ग्रामीण अपने-अपने घरों में पोलिथिन व सूखे कचरे का एक कट्टा अथवा अन्य पात्र रख लेते है तो इससे पोलिथिन को एकत्र करके बेचा जा सकता है। इस पात्र में पोलिथिन, जूते व पुराने कपड़े भी इक्कठे किए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि पोलिथिन को खरीदनें के लिए अनेक एजेंसियों से संपर्क किया जा रहा है। एजेंसी का कर्मचारी घर-घर जाकर प्रत्येक सप्ताह इस पोलिथिन को इक्ट्ठा करेगा। उन्होंने सभी सरपंचों से अनुरोध किया कि वे अपने-अपने गांव में 20 जनवरी तक प्रतिदिन इस योजना के बारे में उद्घोषणा करवाएं। स्वच्छता के प्रति लोगों को ओर अधिक जागरूक करे।

पंचायतों से ले प्रेरणा

उन्होंने कहा कि जिला के सभी पंचायतों को बसाड़ा, झट्टीपुर, सिवाह, जलमाना और शौदापुर की पंचायतों से स्वच्छता की प्रेरणा लेनी चाहिए। इस अवसर पर सीईओ संजय कुमार, सरपंच खुशदिल कादियान, सतपाल, राजू धारा, रामफल, रमेश, रामनिवास, कविता, विनोद, संजय, बिजेंद्र व देवेंद्र मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस