पानीपत, जेएनएन : पटाखों की बिक्री न हो सके, इसके लिए तहसील कैंप पुलिस ने घरों में छापे मारे तो पार्षद अंजली शर्मा, उनके पिता पूर्व पार्षद हरीश शर्मा भड़क गए। हालात इतने बिगड़े कि पार्षद अंजली शर्मा ने पुलिस पर धक्कामुक्की करने का आरोप तक लगा दिया। वार्ड के लोगों को साथ लेकर अंजली पुलिस चौकी पहुंच गई। चौकी इंचार्ज बलजीत को निलंबित करने की मांग उठा दी। पहले भी अंजली शर्मा तहसील कैंप चौकी इंचार्ज पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगा चुकी हैं। उधर, रविवार शाम को तहसील कैंप चौकी पुलिस ने पार्षद अंजली शर्मा और उनके पिता हरीश शर्मा पर सरकारी काम में बाधा डालने और एक्‍सप्‍लोसिव एक्‍ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। 

दिवाली की रात को पुलिस ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने के लिए चेकिंग शुरू कर दी। टेबल पर पटाखे बेच रहे दुकानदारों ने अपना सामान समेट लिया। कुछ लोग घर में घुस गए। पुलिस ने एक घर में छापा मार दिया। यह बात पार्षद अंजली शर्मा तक पहुंचीं। अंजली और उनके पिता हरीश शर्मा मौके पर पहुंच गए। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया।

पुलिस के पास नहीं था वारंट

अंजली शर्मा ने कहा कि पुलिस के पास घर में छापे मारने का क्या अधिकार है। पुलिस बिना वारंट के किसी घर में कैसे घुस सकती है। घर में महिलाएं भी थी। महिला पुलिस साथ क्यों नहीं थी। जब उन्होंने पुलिस इंचार्ज बलजीत से बात की तो उन्होंने धक्कामुक्की की। यहां तक कह दिया कि वो कौन हैं। पुलिस इंचार्ज यहां की पार्षद को भी नहीं पहचानते। बलजीत सिंह पहले भी भ्रष्टाचार करते रहते हैं। उनकी सरकार से मांग है कि इन्हें निलंबित किया जाए।

भड़क गए हरीश शर्मा

तीखे तेवर के लिए मशहूर हरीश शर्मा को जब पता चला कि उनकी बेटी के साथ पुलिस ने गलत व्यवहार किया है तो वह भड़क गए। वार्ड के लोगों को एकत्र कर लिया। सिटी पुलिस इंचार्ज पहुंचे, तब वह शांत हुए। थाना शहर पुलिस इंचार्ज ने जांच का आश्वासन दिया है।

Edited By: Ravi Dhawan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट