जागरण संवाददाता, पानीपत : दुकानदार अरुण सेठी के साथ मारपीट करने के आरोपित रमन के पिता सेवानिवृत एसआइ रणजीत शर्मा ने बुधवार को मीडिया सेंटर में प्रेसवार्ता कर आरोप लगाया कि विधायक के पति सुरेंद्र रेवड़ी के दबाव में किला थाना पुलिस ने उसके बेटे रमन के खिलाफ मारपीट का झूठा मामला दर्ज किया है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में कही भी दिखाई नहीं दे रहा है कि उसके बेटे ने दुकानदार की बाइक रोक कर मारपीट व धमकी दी है। वे इस मामले में एडीजीपी ला एंड आर्डर अकिल मोहम्मद से 21 मई को मिले थे। एडीजीपी ने उन्हें आश्वासन दिया कि मामले की निष्पक्ष जाच की जाएगी। 16 मार्च 2017 में भी उसके बेटे रवि, रमन व अन्य दो युवकों के खिलाफ किला थाना पुलिस ने रेवड़ी के दबाव में चेन लूट व मारपीट की मामला दर्ज किया था। सोनीपत के डीएसपी अजय कुमार की जाच में चेन लूट का मामला झूठ पाया गया था।

इस मौके पर मतलूब के बेटे महफूज खान ने आरोप लगाया कि सुरेंद्र रेवड़ी के इशारे पर पुलिस ने शामली व पानीपत में उन पर पाच केस दर्ज किए। जो कि जाच में सही नहीं पाए गए। इसी तरह से अशोक विहार कालोनी की पूजा रानी ने कहा कि 27 नवंबर 2017 को उसका पति मोहित गुप्ता स्कूटी से सनौली रोड से जा रहे थे। विधायक रोहिता रेवड़ी की गाड़ी के सामने स्कूटी खराब हो गई। उसके पति व अन्य चार पाच युवकों के खिलाफ मारपीट व चेन लूट का झूठा मामला दर्ज करा दिया गया। इस बारे में विधायक के पति सुरेंद्र रेवड़ी ने कहा कि उसकी रमन, मतलूब व अन्य लोगों से कोई रंजिश नहीं है। ये लोग अपने कमरें की सजा भुगत रहे हैं। ये शहर में गुंडागर्दी करना चाहते हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उस पर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस