पानीपत, जेएनएन।  नियम 134 ए के तहत बच्चों को स्कूलों में दाखिला नहीं मिलने से परेशान अभिभावक बुधवार सुबह विधायक रोहिता रेवड़ी के कार्यालय पहुंचे। यहां पीए सरबजीत से संतोषजनक जवाब न मिलने पर वह सेक्टर 12 स्थित आवास पर पहुंच गए। यहां भी काफी देर तक हंगामा होता रहा। दोपहर पौने दो बजे सरबजीत ने अभिभावकों से बृहस्पतिवार सुबह 11 बजे तक का समय मांगा। इसके बाद सब वापस लौट गए।

134 ए के तहत 3500 सीटें खाली होने के बावजूद अब तक 600 बच्चों को दाखिला नहीं मिला है। बुधवार सुबह करीब 50 अभिभावक बच्चों के साथ विधायक रोहिता रेवड़ी के कार्यालय पहुंचे। चिलचिलाती धूप और 41 डिग्री तापमान में वह तपती सड़क पर धरने पर बैठ गए। दो घंटे तक कोई कारण पूछने तक नहीं आया तो अभिभावकों का गुस्सा फूट पड़ा। वह नारेबाजी करते हुए कार्यालय में दाखिल हुए। यहां विधायक के पीए सरबजीत से उनकी नोकझोंक हो गई। विधायक से फोन पर बातचीत कराने का आग्रह किया तो पीए ने इंकार कर दिया। आक्रोशित अभिभावक यहां से विधायक के आवास पर पहुंचे। अभिभावकों ने परिजनों का घेराव किया तो विधायक के ससुर इंद्र सिंह रंगीला ने पीए सरबजीत को घर बुलाया। सरबजीत ने अभिभावकों से एक दिन का समय मांगा। इसके बाद मामला शांत हो गया। 

हाथ पसार रही जनता को मिल रहा आश्वासन
2 जमा 5 मुद्दे जन आंदोलन के जिलाध्यक्ष सोकेंद्र बालियान ने रेवड़ी परिवार पर बाउंसर बुलाकर धक्का-मुक्की करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विधायक ने जनता से हाथ जोड़कर वोट मांगे थे, अब जनता हाथ पसार कर बच्चों का दाखिला मांग रही है तो उन्हें केवल आश्वासन दिया जा रहा है।

विधायक चंडीगढ़ गईं मीटिंग में 
पीए सरबजीत ने कहा कि विधायक रोहिता रेवड़ी ने शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों से बातचीत की है। चंडीगढ़ मीटिंग में होने के कारण वे अभिभावकों से फोन पर बात नहीं कर पाई। उम्मीद है जल्द ही अभिभावकों की समस्या का समाधान हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप