पानीपत, जेएनएन। क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-थ्री) ने नौल्था नशीली दवाएं बेचने के आरोप में गांव नौल्था स्थित चौधरी मेडिकल हाल के मालिक अन्नु को गिरफ्तार किया है। आरोपित के कब्जे से 259 इंजेक्शन सहित भारी संख्या में नशे की गोलियां, सीरप बरामद किया गया। जिला औषधि नियंत्रक विजया राजे ने दवा दुकान को सील कर दिया है।

सीआइए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर ने बताया कि रविवार शाम को सूचना मिली थी कि जोशी गांव वासी का नौल्था गांव, ब्राह्मण माजरा रोड पर चौधरी मेडिकल हाल है। वह नशीली दवाओं की सप्लाई देने जा रहा है। एसआइ बलजीत सिंह, एएसआइ कृष्ण, हवलदार डिंपी, ऊधम सिंह, सिपाही सहदेव और प्रवेश की टीम ने बाइक पर जा रहे अन्नु को पकड़ लिया।

बाइक पर रखी पेटी को जिला औषधि नियंत्रक के समक्ष खोला गया। पेटी में प्रतिबंधित दवा की आठ शीशी, एक डिब्बी में 25, दूसरी में 158 और तीसरी में 76 नशीले इंजेक्शन और 420 टेबलेट थी। आरोपित दवा खरीदने-बेचने का रिकॉर्ड नहीं दिखा सका। इसके बाद टीम उसकी दुकान पर पहुंची, वहां भी कुछ प्रतिबंधित मेडिसिन मिली। दुकान को उसी समय सील कर दिया गया। अन्नु ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह नशीली दवा इंजेक्शन, गोली, सिरप एक व्यक्ति से खरीद कर लाया था। इसराना थाना पुलिस ने आरोपित के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। आरोपित को अदालत में पेश किया गया। वहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया। मामले की जांच की जा रही है।

आसपास गांवों में सप्लाई

अन्नु से बरामद नशीली दवाओं की खेप हिमाचल के सोलन और पोंटा साहिब स्थित कंपनी में बनी हुई है। गांव नौल्था, डाहर, बलाना, मांडी सहित आसपास गांवों के युवाओं को नशा बेचा जा रहा था।

 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें:  कोरोना महामारी के बीच आई नई मुसीबत, ऑक्सीजन भी होने लगी चोरी, पानीपत रिफाइनरी का टैंकर ले उड़े चोर

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप