जागरण संवाददाता, पानीपत : बबैल रोड छोटूराम चौक पर कार की टक्कर लगने से तीन बहनों के इकलौते भाई की मौत हो गई। जीजा बाल-बाल बचे। उत्तर प्रदेश के जिला शामली के कैराना के शकील ने पुलिस को शिकायत दी कि वह रविवार को पानीपत में अपनी ससुराल आया हुआ था। दोपहर करीब ढाई बजे वह छोटूराम चौक निवासी अपने साले शहजाद (23) के साथ बबैल रोड स्थित सर छोटू राम चौक पर पहुंचा। वहां से घर वापस लौटते समय मेरठ नंबर की सेंट्रो कार के चालक ने पीछे से शहजाद को टक्कर मार दी।

टक्कर के बाद आरोपित चालक कुछ देर के लिए रुका। शहजाद की हालत गंभीर देख चालक कार सहित फरार हो गया। उन्होंने लोगों की मदद से साले को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। सिर से अधिक खून बहने के कारण डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सोमवार को पुलिस ने सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर शव को स्वजनों को सौंप दिया। किला थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस कार के नंबर के जरिये आरोपित चालक की तलाश कर रही है। शव ले जाने में हुई दिक्कत

शकील ने बताया कि सिविल अस्पताल से दोपहर को शहजाद का शव मिल गया था। सोमवार को भारत बंद के कारण पहले एंबुलेंस मिलने और फिर सनौली रोड से निकलने में दिक्कत हुई। हालांकि किसानों ने शव होने की बात सुनने के बाद गाड़ी को निकलने दिया। पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल

स्वजनों ने बताया कि चार साल पहले शहजाद की शादी गुलसफा के साथ हुई थी। उसका एक ढाई साल का बेटा और करीब आठ महीने की बेटी है। वह तीन बहनों का इकलौता भाई थी। शहजाद की मौत के बाद पत्नी व स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Edited By: Jagran