यमुनानगर, जागरण संवाददाता। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने देश में दस्तक दे दी है। इसके साथ ही अब स्वास्थ्य विभाग भी बेहद एहतियात बरत रहा है। स्वास्थ्य विभाग की नजर हाई रिस्क में घोषित 12 देशों से आने वाले यात्रियों पर है। इन सभी देशों से आए सभी यात्रियों का कोविड का पहला आरटीपीसीआर टेस्ट हवाई अड्डे पर व दूसरा टेस्ट आठवें दिन कराना अनिवार्य किया गया है। यदि कोई यात्री कोविड संक्रमित मिलता है, तो उसका व्होल जीनोम सिक्वेंस (डब्ल्यूजीएस)टेस्ट के लिए सैंपल दिल्ली स्थित लैब सीएसआइआर-आइजीआइबी लैब में भेजा जाएगा। हाई रिस्क देशों से आए यात्रियों से भी रोजाना फोन के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली जाएगी। तीसरे और छठे दिन विभाग की टीम यात्रियों के घरों पर विजिट करेगी। सात दिन होने के बाद दोबारा इन यात्रियों का सैंपल लिया जाएगा।

इन देशों को रखा गया है हाई रिस्क श्रेणी में

यूके सहित यूरोप के सभी देश, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बंगलादेश, बोस्तवाना, चीन, मोरिसस, न्यूजीलैंड, जिंबाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग, इजराइल को हाई रिस्क श्रेणी में रखा गया है। 25 नवंबर के बाद जिले में विदेश से 207 यात्री आए हैं। इनमें से 30 यात्री हाई रिस्क श्रेणी के देशों से आए हैं। इनमें से 11 यात्रियों का कोविड सैंपल भिजवाया गया है। जिसकी अभी रिपोर्ट नहीं आई है। इनमें से दस यात्री ऐसे हैं। जिन्हें विभाग ट्रेस नहीं कर पाया है। इन यात्रियों के मोबाइल नंबर भी गलत हैं। जो पता दिया गया है। वहां पर भी इनके बारे में जानकारी नहीं मिली है। 

कलस्टर बनाकर होगी निगरानी

स्वास्थ्य विभाग ने किसी कालोनी या कार्यालय में पांच से अधिक कोरोना संक्रमित मिलने पर कलस्टर बनाने का निर्णय लिया है। यदि किसी परिवार के पांच सदस्य भी कोरोना संक्रमित आते हैं, तो उस परिवार को भी कलस्टर की श्रेणी में रखा जाएगा। वहां पर विशेष निगरानी रखी जाएगी। इसी तरह से विड पाजिटिव केस (18 वर्ष से कम आयु, 18 वर्ष से अधिक आयु जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगवाई है) में से पांच फीसद का सैंपल डब्ल्यूजीएस के लिए रोहतक लैब में भेजा जाएगा। कलस्टर में से पाए गए विड पाजिटिव मरीजों के सैंपल भी डब्ल्यूजीएस टेस्ट के लिए रोहतक लैब भेजा जाएगा। जिससे पता लगाया जा सके कि यह नए वैरिएंट की चपेट में तो नहीं है। हालांकि अभी तक जिले इस तरह का कोई केस सामने नहीं आया है। 

ओमिक्रोन में आए हैं नए लक्षण

सिविल सर्जन डा. विजय दहिया ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से बचने के लिए लोगों को नियमों का पालन करना होगा। ओमिक्रोन वैरिएंट में कुछ नए लक्षण बहुत ज्यादा थकान, गले में खराश, सिरदर्द और बदन दर्द भी सामने आ रहे हैं। इसलिए लोगों से अपील है कि मास्क लगाकर रखें और दो गज की दूरी के नियम का पालन करें।

Edited By: Rajesh Kumar