कुरुक्षेत्र, [जगमहेंद्र सरोहा]। टोक्यो ओलिंपिक के हाकी मैच में कुरुक्षेत्र के शाहाबाद की बेटी एक बार फिर छा गई। नवनीत कौर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जबरदस्त खेलते हुए अपना पास अपने से अगली खिलाड़ी वंदना कटारिया को दिया। जिसकी बदौलत वंदना कटारिया ने इसको अवसर में बदल दिया। यह भारतीय टीम का पहले हाफ में पहला गोल रहा। इसके बाद टीम कुछ ढीली पड़ गई और दक्षिण अफ्रीका की टीम ने इस फायदा उठाकर इसी हाफ में एक गोल कर बराबर पर खड़े होने का मौका मिल गया। दक्षिण अफ्रीका की टीम कुछ हावी होने लगी तो भारतीय टीम ने गोल दागने शुरू कर दिए। मैच खत्म होने से पांच मिनट पहले पेनाल्टी कार्नर पर भारतीय टीक को मौका मिला। खिलाड़ियों ने इसको गोल में बदल दिया और दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से हरा दिया।

आयरलैंड की टीम को कराने के बाद भारतीय टीम शनिवार को दक्षिण अफ्रीका के साथ मुकाबले में आत्मविश्वास के साथ मैदान में उतरी। भारतीय समय अनुसार सुबह 8:40 बजे मैच शुरू हुआ। हाकी खेल प्रेमियों को मैच जीतने की उम्मीद थी, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के लगातार गोल करने से कुछ चिंता छा गई। तीसरे हाफ में भी दोनों टीमें 3-3 के स्कोर के साथ बराबर पर खड़ी थी। इसी बीच भारतीय टीम ने एक गोल कर दिया।

Navneet

टीम को इस मैच से सबक लेने की जरूरत

हाकी खिलाड़ी नवजौत के पिता बूटा सिंह ने बताया कि आयरलैंड को हराने के बाद भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका काे शुरुआती दौर में गंभीरता से नहीं लिया। टीम को 10-12 गोल कर देने थे, लेकिन टीम चार गोल की हर पाई। इनमें एक गोल सीधा किया और बाकी तीन गोल पेनल्टी कार्नर के मिले। वहीं डिफेंस भी इतना आक्रामक नहीं रहा। खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका को गोल करने से नहीं रोक पाए।

 Hockey Player

क्वार्टर फाइनल का फैसला दोपहर बाद

टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय टीम के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का फैसला दोपहर बाद होगा। जानकारों के अनुसार दोपहर बाद इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच मैच हाकी मैच है। इस मैच को इंग्लैंड जीत लेता है या उनको टाई मिल जाती है तो भारतीय टीम का ओलिंपिक के क्वार्टर फाइनल में पहुंचना तय है। अगर आयरलैंड की टीम मैच जीत पाती है तो स्कोर के आधार पर वह क्वार्टर फाइनल में पहुंच जाएगी। आयरलैंड की जीत भारत के लिए खतरा साबित होगी।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Anurag Shukla