जागरण संवाददाता, पानीपत : अब स्टाफ नर्स को नर्सिंग आफिसर कहा जाएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार ने नोटफिकेशन जारी कर स्वास्थ्य विभाग में स्टाफ नर्स के तीन पदों को बदल दिया। अब तीनों ही पदों में अधिकारियों के रूप में नई पहचान मिलेगी। नर्सिंग आफिसर एसोसिएशन पानीपत की यह पुरानी मांगी अब पूरी हो गई। इस सूचना के बाद अधिकारिक तौर पर वीरवार को इनके पद बदल दिए गए। सभी नर्सिंग आफिसर में खुशी का माहौल बना हुआ है। केंद्र सरकार ने पहले ही स्टाफ नर्स का पद बदलने की अधिसूचना जारी कर दी थी। प्रदेश में यह स्टाफ नर्स का पद बदलने को लेकर कोई नोटफिकेशन जारी नहीं किया गया। नर्सिंग आफिसर एसोसिएशन पानीपत ने मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया था। इसी मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को भी ज्ञापन सौंपा गया था। वीरवार को नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। इसमें अब अपग्रेड हुए तीनों ही पद अधिकारियों की बराबर का दर्जा मिल सकेगा। इससे नर्सिंग आफिसर अब डाक्टरों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर सकेंगे। वीरवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी को अपग्रेड हुए पदों के नोटफिकेशन पत्र नर्सिंग आफिसर को सौंपे गए। इस अवसर पर प्रधान सुमन, उप प्रधान नीलम कटारिया, सचिव सोहन सिंह, सुमन रोहिला, कृष्ण भाटिया, तरीजा रजनी व आशा ने खुशी जताई। पहले पद का नाम, अब इस पद से कहलाएंगी आफिसर

स्टाफ नर्स-------------------नर्सिंग आफिसर

नर्सिंग सिस्टर---------------सीनियर नर्सिंग आफिसर

मेटरोन-----------------------चीफ नर्सिंग आफिसर

वर्जन नर्सिंग आफिसर के लिए खुशी के पल

नर्सिंग आफिसर एसोसिएशन पानीपत के सचिव सोहन सिंह ने जागरण से बातचीत में बताया कि काफी पुरानी मांग होने से अधिकारी स्तर का नर्सिंग आफिसर का दर्जा मिला है। इससे एसोसिएशन में खुशी का माहौल बना हुआ है। आगे इससे नर्सिंग आफिसर को एक पहचान मिल सकेगी। अपना कार्य और बेहतर करेंगे।

Edited By: Jagran