जागरण संवाददाता, पानीपत। त्योहार सीजन शुरू हो चुका है। व्यवस्था बनाने के लिए ट्रैफिक पुलिस के डीएसपी संदीप सिंह ने पिछले दिनों निगम के जेई के साथ मिलकर अतिक्रमण हटवाने का प्लान तैयार किया था। जिसमें चालान भी करने के निर्देश दिए, लेकिन इस चेतावनी के बाद भी बाजारों के हालात नहीं सुधर रहे। बाजारों में भीड़ इतनी बढ़ गई है कि पैदल चलने तक का रास्ता नहीं। ऐसे में व्यवस्था बनाना भी एक चुनौती भरा कार्य है।

बाजारों में दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकानों के आगे स्टाल लगा ली और 10 फीट तक अतिक्रमण किया हुआ है। जिससे लोग वहीं पर वाहन भी खड़े कर रहे हैं। इससे ट्रैफिक जाम की स्थिति बन रही है। इसके साथ ही बाजारों में ई-रिक्शा के प्रवेश पर भी रोक नहीं लग रही। बाजारों में जाम का मुख्य कारण वाहनों की एंट्री भी है। यहां बाजारों में ई-रिक्शा के साथ-साथ कार भी एंट्री कर रही है। हालांकि इंसार बाजार लाल बत्ती पर पुलिस भी तैनात की गई है, ताकि बाजार के अंदर कोई वाहन प्रवेश न करे, लेकिन भारी वाहन दूसरे लिंक रास्तों से बाजार के अंदर प्रवेश कर जाते है। जिसके बाद जाम स्थिति पैदा हो जाती है।

पांच मुख्य बाजारों में दिनभर रही स्थिति

इंसार बाजार : यहां सुबह 10 बजे से ही ग्राहकों की भीड़ होनी शुरू हो गई। दोपहर दो बजे के बाद तो पैदल चलने तक का रास्ता नहीं था। यहां दुकानों आगे तीन फीट तक अतिक्रमण किया हुआ मिला।

पालिका बाजार :यहां भी सुबह 10 बजे भीड़ लोग खरीदारी के लिए आने शुरू हो गए, लेकिन शाम चार बजे के बाद भीड़ अधिक हो गई। दुकानों के आगे स्टाल लगाकर 10 फीट तक अतिक्रमण किया हुआ मिला। जिसके चलते लोगों ने भी वाहन बाजार के बीच में ही पार्किंग बना दिया।

कंबल मार्केट : यहां सुबह नौ बजे से ही दुकानदारों ने दुकानों से बाहर पांच फीट तक कंबल रख दिए, इसके साथ सड़क सिकुड़कर 15 फीट रह गई। अभी यहां सबसे ज्यादा ई-रिक्शा प्रवेश कर रही है। जिसके कारण जाम की स्थिति बनी रहती है।

हैंडलूम बाजार : सुबह 10 बजे ही भीड़ इतनी अधिक हो जाती है कि यहां कार भी एंट्री कर रही है। जबकि यह बाजार चौड़ाई के मामले में सबसे बड़ा बाजार है। यहां दुकानों के आगे पांच फीट तक अतिक्रमण किया हुआ है।

सलारजंग गेट : सुबह नौ बजे से ही लोग बाजारों में आने शुरू हो जाते है। यह जगह बाजारों में एंट्री करने का मुख्य रास्ता है। यहीं से पांच से ज्यादा बाजारों में जा सकते हैं। यहां ई-रिक्शा भी अधिक खड़ी होने के कारण जाम की स्थिति बनी रहती है। पुलिस प्रशासन ने होमगार्ड भी लगाए है, फिर भी हालात नहीं सुधर रहे।

ट्रैफिक पुलिस का नहीं आया कोई मैसेज

इंचार्ज विक्रम राणा ने बताया कि अतिक्रमण को लेकर ट्रैफिक पुलिस के साथ ड्यूटी लगी है। ट्रैफिक पुलिस जहां भी बुलाएगी, वहां पहुंच जाएंगे। अभी तक कोई मैसेज नहीं आया।

जेई उपलब्ध नहीं थे इसलिए नहीं शुरू किए चालान 

ट्रैफिक डीएसपी संदीप सिंह ने कहा कि नगर निगम के जेई उपलब्ध नहीं हो सके, जिसके कारण चालान नहीं काटे जा सके। शनिवार को चालान शुरू कर दिए जाएंगे।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट