पानीपत, जेएनएन - एनएफएल (नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड) के परिवहन अधिकारी की कर्मचारी ने पिटाई की और जाति सूचक शब्द कहे। अधिकारी ने आरोपित कर्मचारी की लापरवाही की शिकायत उनके आला अधिकारी को कर दी थी। इसी की वजह से मारपीट हुई।

एनएफएल टाउनशिप में रहने वाले एचपी गौतम ने पुलिस को शिकायत दी कि वह एनएफएल में परिवहन अधिकारी हैं। उनके पास पांच कर्मचारी ठेके पर काम करते हैं। इन कर्मचारियों में नांगल खेड़ी का सुरेंद्र कुमार भी है। सुरेंद्र कुमार बिना बताए ड्यूटी से चला गया था।

इसी गलती के कारण कोल रैक पर डेमरेज लगा। इसकी शिकायत प्रबंधक परिवहन को कर दी। आरोपित ने फोन से बात कर गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी। इस बारे में फिर से आरोपितों के आला अधिकारी को अवगत कराया। 

इस तरह पीटा

आरोपित एनएफएल में आया और जाति सूचक शब्द कहकर दाईं आंख पर मुक्का मारा। खून बहने लगा और वह नीचे जमीन पर गिर गए। आरोपित ने उन्‍हें  जूतों की ठोकर मारी और धमकी दी कि पुलिस को शिकायत की तो उनको और परिवार को जान से मार देगा। सीआइएसएफ के जवानों ने उन्हें आरोपित के चंगुल से छुड़ाकर एनएफएल टाउनशिप के अस्पताल में दाखिल कराया, जहां से एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया। उनकी आंख पर पांच टांके लगे हैं। इस बारे में आठ मरला चौकी प्रभारी कृष्ण कुमार ने बताया कि मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

आरोपित तीन वर्ष से रखता है रंजिश, प्रबंधन ने नहीं की कार्रवाई

पीड़ित एचपी गौतम ने बताया कि वह परिवहन विभाग में लगभग तीन साल से हैं। आरोपित सुरेंद्र तभी से उनके साथ रंजिश रखता है। इस बारे में बार-बार प्रबंधक परिवहन को अवगत करा चुका हूं। इसके बावजूद आरोपित के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है।

Edited By: Ravi Dhawan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट