पानीपत, जेएनएन : प्याज का तड़का फिर से महंगा हो गया है। 80 रुपये किलो से महंगा प्याज बिक रहा है। इस कारण से रसोई का बजट बिगड़ गया है। सब्जी विक्रेताओं का कहना है। नवंबर तक प्याज की कीमतों में तेजी बनी रहेगी। प्याज की कीमत नवरात्रों के दिनों में चढ़ी है। इन दिनों व्रत करने वाले भक्त प्याज का सेवन नहीं करते। अगले महीने महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्यप्रदेश की मंडियों में प्याज की नई फसल आने पर प्याज के दामों में राहत मिलेगी।

आढ़ती प्रेम आहूजा ने बताया कि अक्टूबर में महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण प्याज की फसल को नुकसान पहुंचा है। बाजार में प्याज की आवक कम चल रही है। शार्टेज के कारण दाम और बढ़ने के आसार है। 

होटल से सलाद गायब

प्याज के दाम उछलने पर होटलों में सलाद की प्लेट से प्याज गायब हो गया है। 10 पहले प्याज 40-50 रुपये बिक रहा था। प्याज के साथ ही टमाटर, आलू, मटर, खीरा, शिमला मिर्च की कीमतें भी कम नहीं हो रही है। आलू 40-50 रुपये, टमाटर 50, मटर 120 रुपये, खीरा 40-60, शिमला मिर्च 120 रुपये प्रति किलोग्राम तक बिक रही है। 

लोग हैरान, नवरात्र में भी महंगे

लोग हैरान हैं। क्योंकि इन दिनों नवरात्र चल रहे हैं। नवरात्र में आमतौर पर लोग प्याज खाते ही नहीं हैं। इसके बावजूद प्याज का महंगा उन्हें अखर रहा है। नवरात्र के बाद प्याज के दाम बढ़ने के आसार हो गए हैं। क्योंकि इसके बाद तो प्याज की मांग और बढ़ जाएगी। ऐसे में कीमत पर किस तरह नियंत्रण हो सकेगा।

सवा सौ रुपये पहुंच गया था

प्याज अकसर इसी तरह महंगा हो जाता है। पहले भी सवा सौ रुपये से ज्यादा प्रति किलो बिक चुका है। हालांकि किसान के हाथ कुछ नहीं आता। बिचौलियें ही ज्यादा रुपये कमा जाते हैं। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस