पानीपत, [महावीर गोयल]। कोरोना के साथ हम जीना ही नहीं सीख रहे, जिंदगी में आगे भी बढ़ रहे हैं। रास्ते भी ऐसे खुले हैं कि कारोबार जगत में नया उत्साह आ गया है। लॉकडाउन से पहले तो किसी एक देश के किसी एक शहर तक ही पहुंच हो पाती थी। पर अब वीडियो काॅन्फ्रेंस से दुनियाभर के कारोबारी एकसाथ जुड़ रहे हैं। वीडियो पर ही प्रोडक्ट पसंद कर रहे हैं। उसी पर ऑर्डर लिए जा रहे हैं। न केवल लाखों रुपये आने-जाने, बल्कि समय भी बचा है। दूसरा, एक तरह से प्रोडक्शन लागत भी घटी है। दुनिया से कनेक्शन बढ़ा, वो अलग। पढि़ए ये खास स्टोरी। कैसे निर्यातकों के लिए यह संकट सुअवसर ले आया है। दो दिन से तो जर्मनी के बायर लगातार वीसी कर रहे हैं।

वीडियो कॉन्फ्रेंस से प्रोडक्ट दिखा रहे, समय-लागत घटी, काम बढ़ा, दुनिया से कनेक्शन और जुड़ा

लॉकडाउन से पहले विदेशों से खरीदार पानीपत में प्रोडक्ट पसंद करने व बिजनेस डील करने आते थे। यहां से निर्यातक विदेशों में प्रोडक्ट दिखाने व डील करने के लिए जाते थे। फ्लाइट बंद होने के कारण निर्यातकों, खरीदारों का आना-जाना बंद हो गया है। अब वीडियो काॅन्‍फ्रेंस में दो-दो घंटे यहां निर्यातकों को मिल रहे हैं। इस निर्धारित समय में वे अपने प्रोडक्ट दिखाते हैं। पिक्चर पसंद आने पर उसका सैंपल भेज दिया जाता है। बिना सैंपल के भी आर्डर मिल रहे हैं। मंगलवार को भी विदेशी ग्राहकों ने वीसी के माध्यम से निर्यातकों के शोरुम में लगे प्रॉडक्ट को देखकर पसंद किया।

निर्यात के दो मुख्य सीजन

टेक्सटाइल निर्यात कारोबार में दो मुख्य सीजन अगस्त-सितंबर, फरवरी-मार्च के लिए खरीद होती है। मई और जून में इसका उत्पादन शुरू होता है। लॉकडाउन में छूट के बाद पानीपत में निर्यात यूनिट चालू हो चुके हैं। पुराने ऑर्डर की शिपमेंट हो रही है। विदेशों में भी शोरूम खुल चुके हैं। अब नए ऑर्डर के लिए  कारोबारी संपर्क साध रहे हैं।

जर्मनी के कारोबारियों ने की वीसी  

दो दिन से जर्मनी के कारोबारी पानीपत के निर्यातकों के साथ वीडियो काॅन्‍फ्रेंस कर रहे हैं। वीसी के माध्यम से प्रोडक्ट पसंद किया जा रहा है। निर्यातक भी डेढ़ से दो घंटे में ही अपने नए-नए सैंपल दिखा रहे हैं। इन दिनों अगस्त-सितंबर के सीजन के लिए खरीद हो रही है।

नया ट्रेंड स्थापित हो रहा : छाबड़ा

निर्यातक रमन छाबड़ा का कहना है कि मार्केट में नया ट्रेंड स्थापित हो रहा है। पानीपत के स्टफ की मांग अच्छी निकल रही है। पहले पुराने आर्डर पूरे करने पर ध्यान लगा हुआ था। अब नए ऑर्डर पर ध्यान लगा है। लेबर कच्चे माल की कोई परेशानी नहीं है। कच्चा माल एक -दो दिन देरी से मिल जाता है।

यह भी पढ़ें: मास्‍क जरूर पहनें, लेकिन जानें किन बातों का रखना है ध्‍यान, अन्‍यथा हो सकता है हाइपरकेपनिया


यह भी पढ़ें: डॉलर की चकाचौंध भूल गए थे अपना वतन, अब गांव की मिट्टी में रमे पंजाब के युवा

 

यह भी पढ़ें: खुद को मृत साबित कर US जाकर बस गया, कोरोना के डर से 28 साल बाद पंजाब लौटा तो खुली पोल

 

यह भी पढ़ें: वंडर गर्ल है म्‍हारी जाह्नवी, दुनिया भर के युवाओं की आइकॉन बनी हरियाणा की 16 की लड़की 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस