जागरण संवाददाता, पानीपत :

बैंक उपभोक्ताओं के खाते से पैसे निकलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। सिवाह की महिला संतोष के उज्जीवन बैंक स्थित खाते से भी 22 हजार रुपये निकाल लिए गए। जबकि उन्होंने न तो किसी को एटीएम कार्ड दिया और न ही किसी के साथ पासवर्ड साझा किया। वहीं पुलिस ने शिकायत पर केस दर्ज करने की बजाय टालती रही। मामला पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचा तो दो माह बाद सिटी थाना पुलिस ने केस दर्ज किया है।

सिवाह के विपिन ने बताया कि उसकी मां संतोष ने संजय चौक स्थित उज्जीवन बैंक से 41 हजार रुपये का लोन लिया था। सभी कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद लोन की राशि उनकी मां के खाते में आ गई। उसने बताया कि 31 अक्टूबर 2019 को वो एटीएम के जरिये खाते से 20 हजार रुपये निकलवाकर लाए। लेकिन जैसे ही 2 नवंबर को दोबारा पैसे निकलवाने के लिए गए तो खाते में केवल 2400 रुपये शेष मिले। इसके बाद वह बैंक अधिकारियों के पास पहुंचे और खाते से रुपये निकलने की बात कही। इसके बाद पता चला कि खाते से पैसे हिसार और दिल्ली से एटीएम के जरिये निकले हैं। मामले की शिकायत लेकर चादनीबाग थाने में गए, लेकिन वहां से पानीपत सिटी थाने का मामला होने की बात कहकर चलता कर दिया। वहां गए तो उन्होंने कहा कि पैसे दिल्ली और हिसार से निकले है, इसलिए मामला वहां का बनता है। जिस पर आखिर में उन्होंने 9 दिसंबर को मामले की शिकायत एसपी कार्यालय में की थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस