संवाद सूत्र, रिफाइनरी : पानीपत रिफाइनरी में मॉकड्रिल की गई। ड्रिल को लगभग 12:30 बजे सक्रिय किया गया। एसिटिक एसिड भंडारण टैंक के निकासी पाइपलाइन में 50 मिमी छेद हो गया। लंबे समय तक रिसाव होने के परिणामस्वरूप डाइक के अंदर एसिटिक एसिड द्रव का जमाव हुआ। बाद में हवा के साथ इसका वाष्प बाउंडरी वॉल से बाहर जाने लगा तथा आसपास की आबादी को प्रभावित करने लगा। सायरन बजते ही फायर स्टेशन एवं सेटेलाइट फायर स्टेशन से दमकल गाड़ियां साइट पर पहुंचीं।

मौसम की स्थिरता, हवा की गति और दिशा के आधार पर, पहले माना गया कि आपदा स्थल के आसपास के टैंक क्षेत्र प्रभावित होंगे लेकिन बाद में यह विषैली गैस रिफाइनरी बाउंडरी वॉल से बाहर जाने लगी। तदनुसार इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को तथा सड़क पर आने जाने वाले लोगों को सुरक्षित निकाल कर पुनर्वास केंद्र भेजा गया।

ड्रिल के बाद सम्मेलन कक्ष में एक डी-ब्रीफिग सत्र आयोजित किया गया, जहां आपातकालीन तैयारी योजना में और सुधार के लिए अवलोकनों की समीक्षा कार्यकारी निदेशक पीआरपीसी जीसी सिकदर द्वारा की गई।

ड्रिल में जिला प्रशासन की ओर से विनीत कादियान, अनिल कौशिक , यादविद्र शर्मा, जितेंद्र खर्ब, डीपी सिंह, नवीन सैनी, डा. हरेंद्र मान, चौकी इंचार्ज रविंद्र सिंह ने भाग लिया।

ददलाना में लगा बिजली निगम का दरबार

संसू, रिफाइनरी-काबड़ी : उत्तरी हरियाणा बिजली वितरण निगम की ओर से ददलाना गांव में शनिवार को लगाए खुले दरबार में गलत बिल की चार शिकायतें आई। एसडीओ मूनक धर्मपाल जागलान की अध्यक्षता में शिविर लगा। उन्होंने कहा कि घरों में एलइडी लाइट लगानी चाहिए। घर में लगे उपकरणों को उसी समय चलाना चाहिए जब उसकी जरूरत हो। बिजली का बिल समय पर भरना चाहिए ताकि जुर्माना न लगे। इस अवसर पर सरपंच ददलाना दीपक राणा, सरपंच कुताना बलवान सिंह, जेई सतवीर सिंह, कृष्ण अत्री, हरगुलाल मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021