पानीपत, जेएनएन। संदिग्ध परिस्थितियों में लापता विशाल का शव 11 घंटे बाद शिवनगर के पास खेत में मिला। शव नीला पड़ने के कारण परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। भाई राजीव ने बताया कि सात भाई-बहनों में विशाल (23) सबसे छोटा था। वह अवविवाहित था। छोटूराम चौक स्थित एक फैक्ट्री में काम करता था। विशाल शनिवार को काम पर नहीं गया। शाम पांच बजे घर के बाहर खड़ी विशाल की बाइक चोरी हो गई। इससे वह तनाव में चला गया। परिजनों को रात आठ बजे परचून की दुकान से कोल्ड ड्रिंक लाने की बात कहकर निकला था। घर नहीं लौटा तो रात 12 बजे तक तलाश की। पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने ने 24 घंटे बाद कार्रवाई करने की बात कही।

एक घंटे बाद पहुंची पुलिस
रविवार की सुबह छह बजे परिजनों ने पुलिस को विशाल की हत्या की सूचना दी। एक घंटे बाद पहुंचे पुलिसकर्मियों ने पूछताछ और शव पिकअप में डाल अस्पताल भिजवा दिया। परिजनों को अस्पताल पहुंचने की बात कह पुलिसकर्मी ब्रेकफास्ट करने और नहाने के लिए थाने चले गए। तीन घंटे तक शव पिकअप में ही रखा रहा तो परिजनों ने हंगामा कर दिया। इसके बाद पुलिसकर्मी अस्पताल पहुंचे।

सीसीटीवी में कैद हुआ बाइक चोर
परिजनों ने घर के पास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली तो घर के बाहर विशाल की बाइक खड़ी दिखी। शाम पांच बजे एक युवक बाइक को ले जाता नजर आया। पता चला है कि विशाल ने किसी फाइनेंसर से कुछ रुपये ले रखे थे और फाइनेंसर उसे परेशान कर रहा था। बाइक उठाने की धमकियां देता था। शनिवार रात के समय कुछ अन्य युवक भी विशाल के साथ थे। परिजनों ने आशंका जताई है कि इन युवकों में से किसी ने विशाल की हत्या की है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी। हर एंगिल से मामले की जांच की जा रही है। पुलिसकर्मियों के पिकअप में बॉडी छोड़ने की जानकारी मिली है। अगर ऐसा हुआ है तो उचित कार्रवाई करेंगे। इंस्पेक्टर बलबीर, प्रभारी, किला थाना।

ये भी पढ़ें: मासूम का शव देख बेहोश हुईं बुआ और दादी, हंगामा

ये भी पढ़ें: काश! हेलमेट पहने होता, शायद बच जाती कबड्डी खिलाड़ी की जान

ये भी पढ़ें: अमेरिका जाने की चाह में गंवाए 35 लाख, पांच देशों में काटी जेल

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप