जागरण संवाददाता, पानीपत : असंध रोड स्थित एक गांव में मां-बेटे के साथ कुछ दबंगों ने चौबारे में मारपीट की। उसके बाद आरोपितों ने बेटे के सामने ही उसकी मां की आबरू लूटने का प्रयास किया। खून से लथपथ हालत में आरोपितों ने उन्हें छोड़ दिया।

गांव में एक किशोर रविवार शाम को लगभग 4:30 बजे गली में खेल रहा था। इसी दौरान गांव के ही आकाश और विनय उसे उठाकर उनके घर ले गए। पुलिस को दी शिकायत के अनुसार आरोपितों ने किशोर को कमरे में बंद करके उसके साथ काफी देर तक लात, घूसों व बेल्टों से मारपीट की। इसी दौरान आरोपितों के साथी अनूप, मुकेश ने भी उसके साथ मारपीट की। आरोपितों ने छोटे भाई को कहकर किशोर की मां को भी उनके घर बुला लिया। किशोर को मुर्गा बनने के लिए कहा और उसकी मां के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी। किशोर का आरोप है कि आरोपितों ने उसकी मां के साथ छेड़खानी की। मां की इज्जत लूटने का प्रयास किया। शक होने पर किया था किशोर का अपहरण

पीड़ित महिला ने बताया कि उसका 14 वर्षीय नाबालिग बेटा नौवीं कक्षा का छात्र है। आरोपितों को शक था कि उसका बेटा आरोपितों के परिवार की एक किशोरी से फोन पर बातचीत करता है। आरोपितों ने उसके बेटे को समझाने की बजाए उनके साथ जमकर मारपीट की। मारपीट के दौरान मां-बेटे दो बार बेहोश भी हो गए। महिला का आरोप है कि आरोपितों ने उसके साथ दुष्कर्म भी किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस