पानीपत, [आनलाइन डेस्‍क]। हरियाणा के पानीपत सहित कई शहरों में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है। शहर में जलभराव की वजह से लोगों के हाल बेहाल हैं। वहीं मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। अभी 48 घंटे तक बारिश होगी। शुक्रवार को भी सुबह से ही बारिश हो रही है।

दो दिन की बारिश से पानीपत जगह-जगह जलभराव की समस्या सामने आ रही। शहर के पाश क्षेत्र जलमग्न हो गए। वीरवार को पानीपत में 27 व इसराना में 55 एमएम बारिश हुई। इसराना में हुई बारिश सबसे ज्यादा है। रातभर से झमाझम बारिश हो रही है। पानीपत के हालात ऐसे खराब हो चुके है कि हर जगह जलभराव की समस्या पैदा हो गई है। सनौली रोड सबसे ज्यादा परेशानी बन गई है। तापमान में गिरावट दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा। नगर निगम दावे किए थे कि शहर में कहीं भी जलभराव नहीं होने देंगे। इसके बावजूद शहर में कई जगहों पर जलभराव की समस्याएं बन गई।

अभी मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन तक तेज बारिश के आसार बने हुए है। ऐसे में पानीपत के हालात और खराब होने की संभावना है। निगम प्रशासन ने दिल्ली से मंगवाई चार मशीन भी शहर को डूबने से नहीं बचा सकी। सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या जीटी रोड व असंध रोड, पुराना इंडस्ट्रियल एरिया, सेक्टर 29 व तहसील कैंप का एरिया पूरी तरह से जलमग्न हो गया है।

स्कूली बच्चों को सबसे ज्यादा हुई परेशानी

तेज बारिश होने के कारण स्कूली बच्चों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बस भी समय पर बच्चों को लेने के लिए नहीं पहुंच सकी। जिसके बाद बच्चे घरों में ही रहे।

जीटी रोड पर लगा रहा जाम

बारिश के कारण जीटी रोड पर जलभराव की समस्या रही। जिसके कारण लंबा ट्रैफिक जाम रहा। खादी आश्रम से गोहाना मोड सबसे ज्यादा ट्रैफिक जाम रहा। सुबह से ही लोग जाम में फंसे रहे। ट्रैफिक पुलिस के भी जाम खुलवाने के लिए कड़ी मश्कत करनी पड़ी।

जानिए...कहां हुआ जलभराव

तहसील कैंप : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही।

कच्चा कैंप : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही है। जिसके कारण बत्तरा कालोनी व आसपास लोगों को काफी परेशानियां उठानी पड़ी।

सेक्टर 11-12 : शापिंग सेंटर में जलभराव की समस्या पैदा हो गई है। जिसके कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा। गलियों में भी पानी भर गया।

ओल्ड इंडस्ट्रियल एरिया : यहां सबसे ज्यादा जलभराव की समस्याएं सामने आई हैं।

सनौली रोड : बारिश के कारण जलभराव की समस्या पैदा हो गई।

ऊझा रोड : यहां सड़क निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ है। जिसके कारण जगह-जगह जलभराव हो रहा है।

गीता कालोनी : शहर का सबसे पाश क्षेत्र है। यहां भी जलभराव की समस्या पैदा हो गई।

किशनपुरा : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही है। हल्की बूंदाबांदी में ही यहां जलभराव की समस्या पैदा हो जाती है।

क्षेत्र कितनी बारिश हुई

पानीपत 27 एमएम

इसराना 55 एमएम

समालखा 41 एमएम

बापौली 43 एमएम

मतलौडा 30 एमएम

Edited By: Anurag Shukla