जागरण संवाददाता, पानीपत : नगर निगम में पार्कों के सुंदरीकरण में एक और घोटाले की बू आ रही है। इस बार इब्राहिम लोधी पार्क और अशोक नगर कॉलोनी के पार्कों पर सवाल उठे हैं। स्थानीय लोगों की मांग पर मेयर अवनीत कौर ने सोमवार को दोनों पार्कों का निरीक्षण किया। आरोप है कि इब्राहिम लोधी पार्क के लिए दो किस्तों में 70 लाख और अशोक नगर में 10 लाख रुपये आए थे। पार्कों में शायद इतना पैसा नहीं लग पाया है। मेयर ने संबंधित अधिकारियों से वर्क ऑर्डर मांगे हैं। अशोक नगर पार्क का शहर की विधायक रोहिता रेवड़ी ने जुलाई 2018 में ही उद्घाटन किया था।

मेयर अवनीत कौर ने सोमवार को दोपहर बाद करीब दो बजे स्काईलार्क रोड स्थित लोधी पार्क का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां पर व्यवस्थाओं और पार्क सुंदरीकरण का मौका देखा। स्थानीय लोगों ने बताया कि पार्क सुंदरीकरण के लिए 40 और 30 लाख की दो ग्रांट आई थी। नगर निगम के ठेकेदार ने पार्क निर्माण कार्य तेजी के साथ शुरू किया था, लेकिन अपेक्षाकृत काम नहीं हो पाया है। उन्होंने अपने स्तर पर पार्क में बेहतर सुविधाओं का भरोसा दिया। लोधी पार्क में ये कमियां मिलीं

इब्राहिम लोधी पार्क का ट्यूबवेल खराब मिला। पानी न होने की स्थिति में शौचालय पर ताला लगा दिया है। इब्राहिम लोधी समेत दूसरी मूर्तियां टूटी मिलीं। पार्क की दो में से एक लाइट खराब है। पार्क में बैठने के लिए बनाई झोपड़ी में दरार आई हुई है। पार्क असामाजिक तत्वों का ठिकाना बना हुआ है। अशोक नगर पार्क में झूला और ओपन जिम नहीं मिला। बाहर के ग्रिल अंदर लगा दिए गए। पार्क में लगाया गया ट्यूबवेल ओपन में है। करंट लगने का इससे खतरा बना रहता है। यह है पार्क का इतिहास

इब्राहिम लोधी पार्क पानीपत की प्रथम लड़ाई का सूचक है। इब्राहिम लोधी 21 अप्रैल 1526 को मुगल सम्राट बाबर के साथ लड़ते हुए पराजित हो गए थे और उनकी इसमें मौत हो गई थी। यहां एक उच्च दोहरे सीढ़ीदार मंच पर एक आयताकार खुली कब्र है। लखौरी ईंटों में निर्मित है। जिला प्रशासन ने 1987 में अपने अधीन लिया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप