जागरण संवाददाता, पानीपत : बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि कांग्रेस भाजपा, दोनों पार्टियां नौकरियों में आरक्षण को प्रभावहीन करने में जुटी हैं। हमने मंडल आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए संघर्ष किया है। मायावती बसपा प्रत्याशियों के समर्थन में सेक्टर 13-17 में आयोजित रैली में बुधवार को बोल रहीं थी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में आरक्षण पर मंडल कमीशन की रिपोर्ट आ चुकी थी लेकिन इसे लागू नहीं किया। हमने संघर्ष कर इसे लागू करवाया। हम बिना समझौते के सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश जैसी सरकार हरियाणा में बनाने के लिए बसपा के प्रत्याशियों को चुनें। मायावती ने कहा कि देश की आजादी के बाद मेहनतकश लोगों का कोई खास विकास नहीं हो सका। सरकारी कार्य पूंजीपति व धन्ना सेठों को दिए जा रहे हैं। गलत आर्थिक नीतियों से किसान सबसे ज्यादा दुखी हैं। गरीब पिछड़े वर्ग के विकास पर इन पार्टियों का कोई ध्यान नहीं है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आने के बाद सर्व समाज के लोगों के लिए काम करेगी। लुभावने वादे में न उलझें

पंडाल में मौजूद लोगों को नसीहत देते हुए मायावती ने कहा कि चुनावी घोषणा पत्र में लुभावने वायदे किए जाएंगे। इसमें उलझने की जरूरत नहीं है। बीएसपी कहने में कम कार्य कर के दिखाने में ज्यादा विश्वास करती है। बसपा सुप्रीमो की रैली में 19 विधानसभाओं से पार्टी प्रत्याशी आए थे। उन्हें खड़ा कर मायावती ने उनके लिए समर्थन मांगा। पानीपत ग्रामीण सीट से प्रत्याशी बलकार मलिक ने मायावती को स्मृति चिह्न हाथी भेंट किया। बसपा प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश भारती ने मंच संचालन किया।

इन प्रत्याशियों के लिए मांगा समर्थन

बलकार मलिक (पानीपत ग्रामीण, परमजीत सैन (राई) मेहर सिंह संधू (घरौंडा), समरजीत सिंह उचाना, नरेंद्र राणा असंध, जोगेंद्र सभ्रवाल समालखा, धर्मवीर नरवाना, सुनीत सभ्रवाल इसराना, जगदीश मुकल सफीदो, जितेंद्र रंगा गन्नौर, शादी तंवर खरखौदा व आजाद सिंह सोनीपत सहित 19 विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों को वोट देने के लिए कहा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस