पानीपत/जींद, [कर्मपाल गिल]। बांगर का गढ़ जींद जिला सियासी रूप से इनेलो व कांग्रेस का गढ़ रहा है। पहली बार 2014 के विधानसभा चुनाव में उचाना हलके से प्रेमलता ने कमल खिलाया था। उसके बाद जींद उपचुनाव में भाजपा को बड़ी जीत मिली। अब मुख्यमंत्री मनोहरलाल की इच्छा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में जींद जिले के पांचों विधानसभा में कमल खिले। इस इच्छा को अंजाम तक पहुंचाने के लिए वह दूसरी बार जींद जिले में जन आशीर्वाद यात्रा लेकर पहुंचे। 

उचाना की अनाज मंडी में चौ. बीरेंद्र सिंह व प्रेमलता की ओर से आयोजित जनसभा में पहुंचे मुख्यमंत्री ने सबसे पहले पांच विकास प्रोजेक्टों का उदघाटन किया और दस प्रोजेक्टों का नींव पत्थर रखा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच साल के शासन में उचाना हलके में करोड़ों रुपये के विकास कार्य हुए हैं। छोटे-मोटे काम छूट भी गए होंगे या एकाध बड़ा काम भी छूट गया होगा तो उन्हें अगली बार पूरा करेंगे। 

काम करने की नियत, राजभोग की नहीं
उन्‍होंने कहा कि हमारी नीयत काम करने की है। कांग्रेस की तरह राजभोग करने की नहीं है। जब हम सत्ता में आए, तब कांग्रेसी कहते थे कि इन्हें सरकार चलाने का तजुर्बा नहीं है। हम कहते थे कि हमें लूट और भ्रष्टाचार के साथ सरकार चलाने की बजाय इमानदारी से सरकार चलाने का तजुर्बा है। अब वही कांग्रेसी हमें अनाड़ी की बजाय खिलाड़ी कह रहे हैं। 

इमानदारी से सरकार चलाई
सीएम ने कहा कि पांच साल तक हमने इमानदारी से सरकार चलाई। बिना पर्ची व खर्ची के मेरिट पर नौकरियां दी। उज्जवला योजना के तहत सबको गैस सिलेंडर दिए। अब दोबारा सत्ता में आते ही हर घर में पानी की टूंटी लगवाएंगे। आयुष्मान योजना के तहत हर परिवार को इलाज के लिए पांच लाख रुपये तक मदद मिलेगी। इस दौरान वन विकास निगम के चेयरमैन जवाहर सैनी, मास्टर गोगल, दलशेर लोहान आदि मौजूद थे।

मैं और बीरेंद्र एक ही पथ के राही
मुख्यमंत्री ने उचाना मंडी में संबोधन शुरू करते समय राज्यसभा सदस्य बीरेंद्र, विधायक प्रेमलता व सांसद बृजेंद्र सिंह का नाम लिया। इसके बाद उन्होंने कहा कि वह चाहते तो एक ही नाम बोल सकते थे। लेकिन यह ऐसा परिवार है, जो मन को जीत लेता है। चौधरी साहब पांच साल पहले जब भाजपा में आए थे, उस समय हमें लग रहा था कि ये भाजपा में रमेंगे या नहीं, लेकिन दो साल बाद इन्होंने एक जनसभा में मंच पर आकर भारत माता की जय के नारे लगवाए। तब उन्होंने यह कहा था कि अब भाजपा मेरे अंदर आ गई है। सीएम ने कहा कि अब मैं और बीरेंद्र सिंह एक ही पथ के राही हो गए हैं। अब हमारे में कोई अंतर नहीं रहा। 

प्रेमलता बोलीं: पांच साल तक बीरेंद्र सिंह की सीएम से लड़ाई नहीं हुई
उचाना की अनाज मंडी में आयोजित जनसभा में विधायक प्रेमलता ने मुख्यमंत्री का जमकर गुणगान किया। प्रेमलता ने कहा कि सीएम ने आज 10 नए कामों का नींव पत्थर रखा है। वह पांच साल तक जब भी सीएम के पास गईं, उन्होंने कभी विकास कार्य के लिए ना नहीं किया। इसी के साथ उन्होंने बीरेंद्र सिंह का भी इस बात के लिए धन्यवाद किया कि पांच साल तक उनकी सीएम के साथ लड़ाई नहीं हुई। यह कहते ही सीएम और बीरेंद्र सिंह के साथ लोग भी जमकर हंसे। प्रेमलता ने कहा कि उचाना के विकास के लिए चौधरी साहब की हर सीएम के साथ लड़ाई होती रही है, चाहे वह भजनलाल रहे हों या हुड्डा। लेकिन हमारे सीएम साहब का स्वभाव बहुत ठंडा है। इन्हें कभी गुस्सा नहीं आता। हमें इतने भले सीएम मिले हैं। इस पर सीएम के साथ लोगों ने जमकर ठहाके लगाए।

बीरेंद्र ने सीएम के साथ प्रेमलता की भी जय बोली
प्रेमलता के संबोधन के बाद बीरेंद्र सिंह माइक पर आए और भारत माता व नरेंद्र मोदी की जय के नारे लगवाए। इसके बाद उन्होंने पहली बार मुख्यमंत्री मनोहरलाल जिंदाबाद का नारा भी लगवाया। चलते हुए कहा कि आपकी विधायक की भी जय हो। इस पर मुख्यमंत्री फिर खूब हंसे। करनाल के सांसद संजय भाटिया ने कहा कि मैडम प्रेमलता ने चौधरी साहब पर ताना मारा तो वह एकदम सीधे हो गए और तुरंत ही जय बोल गए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस